ताज़ा खबर
 

‘भारतीय कृषि इतिहास के लिये ऐतिहासिक क्षण’, संसद में दो कृषि विधेयक पारित होने पर बोले पीएम मोदी

पीएम मोदी ने लिखा कि "भारत के कृषि इतिहास में आज एक बड़ा दिन है। संसद में अहम विधेयकों के पारित होने पर मैं अपने परिश्रमी अन्नदाताओं को बधाई देता हूं।

Narendra Modi pm modi agriculture billप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि विधेयक को के पास होने को ऐतिहासिक बताया है। (AP)

राज्यसभा में आज ‘कृषि विधेयक कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सुविधा) विधेयक 2020’ और ‘कृषक (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक 2020’ पास हो गए। दोनों विधेयकों के सदन से पास होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुशी जाहिर की है। अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए पीएम मोदी ने लिखा कि “भारत के कृषि इतिहास में आज एक बड़ा दिन है। संसद में अहम विधेयकों के पारित होने पर मैं अपने परिश्रमी अन्नदाताओं को बधाई देता हूं। यह न केवल कृषि क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन लाएगा, बल्कि इससे करोड़ों किसान सशक्त होंगे”

पीएम मोदी ने कहा कि ‘दशकों तक हमारे किसान भाई-बहन कई प्रकार के बंधनों में जकड़े हुए थे और उन्हें बिचौलियों का सामना करना पड़ता था। संसद में पारित विधेयकों से अन्नदाताओं को इन सबसे आजादी मिली है। इससे किसानों की आय दोगुनी करने के प्रयासों को बल मिलेगा और उनकी समृद्धि सुनिश्चित होगी।’

एक अन्य ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा कि ‘हमारे कृषि क्षेत्र को आधुनिकतम तकनीक की तत्काल जरूरत है, क्योंकि इससे मेहनतकश किसानों को मदद मिलेगी। अब इन बिलों को पास होने से हमारे किसानों की पहुंच भविष्य की टेक्नोलॉजी तक आसान होगी। इससे न केवल उपज बढ़ेगी, बल्कि बेहतर परिणाम सामने आएंगे। यह एक स्वागत योग्य कदम है।’

बता दें कि ये कृषि विधेयक लोकसभा में भी पास हो चुके हैं और अब राष्ट्रपति की मंजूरी मिलते ही ये विधेयक कानून बन जाएंगे। राज्यसभा में इन बिल पर चर्चा के दौरान विपक्षी पार्टियों ने जमकर हंगामा किया। जिसके चलते कुछ देर के लिए राज्यसभा की कार्यवाही रोकनी पड़ी थी। हालांकि बाद में ध्वनि मत से ये बिल सदन में पास हो गए।

वहीं केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कृषि विधेयक के सदन में मंजूरी मिलने पर खुशी जताते हुए कहा कि आज राज्यसभा में दो कृषि विधेयक को मंजूरी मिल गई है। अब से पहले किसानों को मंडियों में अपनी फसल अनुचित मूल्यों पर बेचनी पड़ती थी लेकिन अब वो अपनी फसल अपने द्वारा तय किए गए मूल्य पर किसी को भी बेच सकते हैं। न्यूनतम बिक्री मूल्य भी रहेगा। यह एक ऐतिहासिक दिन है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भारतीयों के लिए क्रिकेट है अफीम जैसा, आप होंगे इस पागलपन में शरीक, पर मैं नहीं- IPL के बीच पूर्व SC जज का पोस्ट, लोग करने लगे ऐसे-ऐसे कमेंट्स
2 हमारा मैनिफेस्टो था घोड़ा, पर BJP कर रही उसकी गधे से तुलना-Agriculture Bill पर बोले कांग्रेस नेता अहमद पटेल
3 राज्यसभा में 2 किसान बिल पासः ये ‘अन्नदाता हितैषी’- बोले केंद्रीय कृषि मंत्री; हंगामे पर कहा- जब कांग्रेस को लगा कि वे बहुमत में नहीं है तो गुंडागर्दी पर उतरे
यह पढ़ा क्या?
X