ताज़ा खबर
 

JNU campus पहुंचे कांग्रेस उपाध्‍यक्ष को दिखाए गए काले झंडे, राहुल गांधी ने कहा-आवाज दबाने वाले सबसे बड़े राष्‍ट्र विरोधी

प्रदर्शनकारियों को अपना सपोर्ट जताने के लिए जब राहुल गांधी वहां पहुंचे तो कुछ छात्रों ने 'राहुल गांधी गो बैक' के नारे लगाए।

JNU, JNU protests, jnu protest, jnu afzal guru, jnu afzal guru event, afzal guru event, afzal guru, jnu news, jnu protest news, delhi jnu, delhi news, india news, rahul gandhi, rahul gandhi jnuछात्र और कुछ टीचर जेएनयू छात्रसंघ अध्‍यक्ष की गिरफ्तारी के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों को अपना सपोर्ट जताने के लिए जब राहुल गांधी जेएनयू कैंपस पहुंचे थे।

जेएनयू कैंपस में कथित तौर पर देश विरोधी नारे लगने के बाद छात्रों पर पुलिस कार्रवाई के विरोध में कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी शनिवार को वहां पहुंचे। बता दें कि जेएनयू स्‍टूडेंट यूनियन के अध्‍यक्ष कन्‍हैया कुमार को इस मामले में गिरफ्तार किया गया है। छात्र और कुछ टीचर इस गिरफ्तारी के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों को अपना सपोर्ट जताने के लिए जब राहुल गांधी वहां पहुंचे तो कुछ छात्रों ने ‘राहुल गांधी गो बैक’ के नारे लगाए। कुछ छात्रों ने उन्‍हें काले झंडे भी दिखाए। इससे पहले, लेफ्ट नेता सीताराम येचुरी भी मौके पर पहुंचे।

READ ALSO: भाजपा ने कहा- हाफिज सईद की भाषा बोल रहे हैं राहुल

राहुल गांधी के साथ कांग्रेसी नेता अजय माकन और आनंद शर्मा भी जेएनयू कैंपस पहुंचे। राहुल ने यहां कहा, ”कुछ दिन पहले मैं हैदराबाद में था। यही लोग और उनके नेता कह रहे थे कि रोहित वेमुला राष्‍ट्र विरोधी है। सबसे बड़े राष्‍ट्र विरोधी वे लोग हैं, जो संस्‍थान की आवाज दबाने की कोशिश कर रहे हैं। एक युवा ने खुद को जाहिर किया और सरकार कहती है कि वह राष्‍ट्र विरोधी है। वे यह नहीं समझ रहे कि आपको कुचलकर ये आपको और ज्‍यादा मजबूत बना रहे हैं। वे इस बात से डर गए हैं कि कमजोर भारतीय लोग आवाज उठा रहे हैं। जो लोग मुझे काले झंडे दिखा रहे हैं, मुझे गर्व होता है कि मेरे देश में उन्‍हें इस बात का हक मिला हुआ है कि वे मेरे सामने ऐसा कर पाएं।”

इस बीच, सूचना एवं प्रसारण राज्‍यमंत्री राज्‍यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा, ”हमें संविधान में बताए गए मूलभूत अधिकारों और कर्तव्‍यों के बीच सामंजस्‍य बिठाना होगा। मुझे नहीं लगता कि जिस तरह की आजादी भारत में है, वैसी कहीं और नहीं है।” बता दें कि कन्‍हैया कुमार को राजद्रोह और आपराधिक साजिश रचने के आरोप में शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया था।

READ ALSO: नेशनल डिफेंस एकेडमी के पूर्व सैनिकों ने दी JNU डिग्री लौटाने की धमकी, राष्‍ट्रविरोधी नारों पर VC को लिखा पत्र

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories