सोनिया, मुलायम व सुषमा स्वराज संग पत्रकार अरूसा की फोटो शेयर कर कैप्टन ने पूछा- क्या ये सारे पाकिस्तानी एजेंट

पाकिस्तानी पत्रकार अरूसा आलम को लेकर पंजाब की राजनीति खासी सरगर्म हो रही है। अरूसा को पंजाब कांग्रेस के नेता ISI एजेंट बताते हुए कैप्टन पर लगातार हमलावर हैं। उधर, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोनिया गांधी समेत कई शख्सियतों के साथ अरूसा आलम की तस्वीरें सोशल मीडिया पर जारी कर पलटवार किया है। इनमें मुलायम […]

Pak journalist Arusa, Sonia Gandhi, Mulayam Singh, Sushma Swaraj, Captain Amrinder, Pakistani agents
बीजेपी की दिवंगत नेता सुषमा स्वराज के साथ पाकिस्तानी पत्रकार। (फोटोः इंडिया टीवी)

पाकिस्तानी पत्रकार अरूसा आलम को लेकर पंजाब की राजनीति खासी सरगर्म हो रही है। अरूसा को पंजाब कांग्रेस के नेता ISI एजेंट बताते हुए कैप्टन पर लगातार हमलावर हैं। उधर, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सोनिया गांधी समेत कई शख्सियतों के साथ अरूसा आलम की तस्वीरें सोशल मीडिया पर जारी कर पलटवार किया है। इनमें मुलायम सिंह यादव, सुषमा स्वराज के अलावा सेना के कई पूर्व अधिकारी भी शामिल हैं। उन्होंने पूछा कि क्या यह सभी ISI के एजेंट हैं।

कैप्टन ने लिखा- मैं अरूसा आलम की फोटो कई गणमान्य लोगों के साथ जारी कर रहा हूं। मुझे लगता है कि वह सारे भी ISI के एजेंट हैं। ऐसा कहने वालों को बोलने से पहले सोचना चाहिए। यह सिर्फ घटिया मानसिकता का उदाहरण है। ध्यान रहे कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और उनकी पाकिस्तानी महिला मित्र अरूसा आलम को लेकर प्रदेश कांग्रेस के नेता हमलावर हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह के नजदीकी रहे उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने अरूसा के पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ से संबंध होने की बात कही थी। उन्होंने कहा कि मामले की जांच कराई जानी चाहिए।

अरूसा आलम पाकिस्तान की पत्रकार रही हैं। वह कैप्टन के चंडीगढ़ स्थित सरकारी आवास पर आती जाती रही हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह की पत्नी परनीत कौर को भी यह जानती हैं। कैप्टन परिवार से अरुसा की नजदीकी को लेकर नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी ने भी कैप्टन पर तीखे आरोप जड़े थे।

उनका कहना था कि अरूसा की कैप्टन मंत्रिमंडल में कोई दखल थी। उनकी सहमति के बिना किसी को भी मंत्री पद नहीं मिलता था। यहां तक कि एसएचओ, एसपी की पोस्टिंग भी उसकी की सहमति से होती थी। नवजोत कौर ने कहा कि कैप्टन सरकार के राज में अरूसा आलम पंजाब पुलिस की डीजीपी थी। कैप्टन अमरिंदर सिंह की नई पार्टी बनाने पर नवजोत कौर सिद्धू ने कहा कि कैप्टन साहब की यह उम्र पाठ पूजा करने की है। उन्हें बाकी की उम्र अरूसा आलम के साथ बितानी चाहिए। कांग्रेस को कैप्टन की नई पार्टी से फर्क नहीं पड़ने वाला।

उधर, कैप्टन की पत्नी परनीत कौर ने पीएम मोदी-शाह से अपील की थी कि उन्हें इस मामले में दखल देना चाहिए। उनका कहना था कि केंद्र सरकार को सारी सच्चाई का पता है। अरूसा का पंजाब सरकार के फैसलों में दखल नहीं था।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
मंगल मिशन की सफलता पर दिखा जश्न का माहोल
अपडेट