ताज़ा खबर
 

राजधानी दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू का ऐलान, जानें क्या खुला रहेगा और क्या रहेगा बंद

दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू का ऐलान किया गया है। शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार की सुबह 6 बजे तक यह कर्फ्यू लागू रहेगा।

arvind kejriwalदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। फोटो- एएनआई

राजधानी में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने वीकेंड कर्फ्यू का ऐलान कर दिया है। शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक यह कर्फ्यू लागू रहेगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह ऐलान करते हुए कहा कि वीकेंड पर ज्यादातर लोग एंटरटेनमेंट के उद्देश्य से ही बाहर निकलते हैं, इसलिए इन दो दिनों में प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं। आज सीएम केजरीवाल ने एलजी अनिल बैजल के साथ बैठक की थी और इसके बाद ही यह फैसला लिया गया है।

क्या हैं नियम?

वीकेंड कर्फ्यू के नियमों के मुताबिक जिनको पहले से निर्धारित शादी में जाना है, उन्हें ई-पास जारी किया जाएगा। रेलवे स्टेशन या एयरपोर्ट जाना है या जो जरूरी सेवाओं से जुड़े हैं, उन्हें भी कर्फ्यू पास दिया जाएगा। मॉल्स, जिम्स, स्पा और ऑडोटोरियम बंद रहेंगे। सिनेमा हॉल 30 प्रतिशत की कपैसिटी पर चल सकते हैं। साप्ताहिक बाजार, एक वीकली मार्केट पर डे पर ज़ोन के हिसाब से लगेंगे।

रेस्तरां में बैठकर खाने की इजाज़त नहीं होगी। केवल होम डिलिवरी की परमिशन होगी। पब्लिक प्लेस पर एनफोर्समेंट सख्त किया जाएगा ताकि सोशल डिस्टैंसिंग और मास्क के प्रोटोकॉल का पालन कराया जा सके। वीकेंड कर्फ्यू के दौरान अंतरराज्यीय परिवहन जारी रहेगा और लोगों को अपने टिकट दिखाने होंगे। मेडिकल स्टाफ को ई-पास की जरूरत नहीं होगी। मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की कि वे वीकेंड पर घर पर ही रहें।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा, ‘एक साप्ताहिक बाज़ार को एक दिन में और एक ज़ोन के हिसाब से अनुमति दी जाएगी। साप्ताहिक बाज़ार में ज़्यादा भीड़ ना हो इसके लिए खास इंतजाम किए जा रहे हैं। रेस्टोरेंट में अब बैठ कर खाने की इजाजत नहीं होगी, केवल होम डिलीवरी की अनुमति होगी।’

दिल्ली में अस्पतालों की स्थिति और बेड की उपलब्धता पर भी केजरीवाल ने कहा कि अभी बेड्स की कमी नहीं है। राजधानी में अब भी 5 हजार बेड खाली हैं। उन्होंने कहा कि कुछ लोग यह कहने लगते हं कि उन्हें किसी विशेष अस्पताल में ही बेड चाहिए। ऐसे में दिक्कत होने लगती है। बता दें कि दिल्ली में अब 17 हजार से भी ज्यादा के सामने आने लगे हैं। पिछले 24 घंटे में 104 मरीजों की मौत हो गई।

Next Stories
1 विदेशी वैक्सीन को भारत लाने की तैयारी, टेढ़ा-मेढ़ा है ये रास्ता
यह पढ़ा क्या?
X