कल मुलायम, आज शरद…दोनों से मिले लालू यादव, कहा- हमारी तिकड़ी कई मुद्दों पर लड़ी, बिहार में धोखे से हारी थी RJD

शरद यादव के साथ मुलाकात के बाद लालू यादव ने कहा कि मैं यहां उनका हालचाल जानने आया था। उनकी तबीयत ख़राब है। शरद यादव के बिना संसद सूनी है।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने शरद यादव से उनके 7 तुगलक रोड स्थित आवास पर मुलाक़ात की। इस दौरान लालू यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती भी मौजूद रहीं। (फोटो – ट्विटर/@laluprasadrjd)

लंबे समय से बिहार व देश की राजनीति से दूर रहे लालू प्रसाद यादव एक बार फिर से सक्रिय हो गए हैं। दिल्ली में अपने बेटी व राज्यसभा सांसद मीसा भारती के आवास पर स्वास्थ्य लाभ करते हुए लालू विपक्षी दलों के नेताओं से भी मिल रहे हैं। सोमवार को लालू प्रसाद यादव ने समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की। उसके बाद मंगलवार को लालू यादव ने पूर्व सांसद शरद यादव से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने शरद यादव से उनके 7 तुगलक रोड स्थित आवास पर मुलाक़ात की। इस दौरान लालू यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती भी मौजूद रहीं। शरद यादव के साथ मुलाकात के बाद मीडिया से बात करते हुए लालू यादव ने कहा कि मैं यहां शरद यादव से उनका हालचाल जानने आया था। उनकी तबीयत ख़राब है। शरद यादव के बिना संसद सूनी है। साथ ही उन्होंने कहा कि  मुलायम सिंह यादव के साथ मेरी कल की मुलाकात एक शिष्टाचार भेंट थी। हम तीनों- मैं, शरद भाई, और मुलायम सिंह ने कई मुद्दों पर लड़ाई लड़ी है।   

लालू यादव ने इस दौरान यह भी कहा कि हम पिछले बिहार विधानसभा चुनाव के बाद सरकार बनाने वाले थे। मैं उस दौरान जेल में था लेकिन मेरे बेटे तेजस्वी ने एनडीए गठबंधन से अकेले लड़ाई लड़ी। उनलोगों ने हमारे साथ धोखेबाजी की और हमें 10-15 वोट से हरा दिया। साथ ही लालू यादव ने पिछले दिनों लोजपा में हुई फूट को लेकर कहा कि चिराग पासवान अभी भी लोजपा के नेता बने हुए हैं, मैं उन्हें हमारे साथ देखना चाहता हूं।

मंगलवार को पूर्व सांसद शरद यादव के साथ मुलाकात की तस्वीरें लालू प्रसाद यादव ने अपने ट्विटर अकाउंट से भी साझा की। लालू यादव ने तस्वीरों को ट्वीट करते हुए लिखा कि वरिष्ठ समाजवादी नेता शरद भाई से मुलाक़ात कर स्वास्थ्य लाभ संबंधित जानकारी प्राप्त की। सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक और राजनीतिक असमानता के विरुद्ध हमारा लंबा संघर्ष रहा है। हम समाजवादियों का संघर्ष ही संस्कार है। सांप्रदायिकता और ग़ैर-बराबरी के खिलाफ अंतिम दम तक लड़ाई जारी रहेगी। 

लालू प्रसाद यादव दिल्ली में रहते हुए सियासी दांव पेंच में लगे हुए हैं। इसी कड़ी में उन्होंने सोमवार को उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के साथ मुलाक़ात की थी। इससे पहले उन्होंने एनसीपी प्रमुख शरद पवार और समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव से भी मुलाकात की थी। लालू यादव बीते दिनों संसद भी पहुंचे थे।   

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट