ताज़ा खबर
 

एक लाख करोड़ से ज्‍यादा गंवाने के बाद अडानी ग्रुप ने किया अकाउंट फ्रीज होने की खबर का खंडन, ऐसा आया बयान

अडानी समूह के बयान के अनुसार एनएसडीएल की ओर से कंपनी के किसी विदेशी फंड के अकाउंट को फ्रीज नहीं किया है। किसी ने जानबूझकर झूठी खबर फैलाई है ताकि निवेशक हतोत्‍साहित हो सके। इस खबर के बाद ग्रुप की कंपनियों के मार्केट कैप से एक लाख करोड़ रुपए से ज्‍यादा साफ हो गए थे।

अडानी समूह के मालिक गौतम अडानी (Photo-Indian Express )

मार्केट कैप के हिसाब से देश के तीसरे सबसे बड़े समूह अडानी की कंपनियों के शेयरों में सोमवार को काफी गिरावट देखने को मिली थी। यह गिरावट एक न्‍यूज की वजह से आई थी कि एनएसडीएल ने समूह के तीन विदेशी फंडों के अकाउंट को फ्रीज कर दिए हैं। जिनके पास अडानी की चार कंपनियों के 43500 करोड़ रुपए से ज्‍यादा के शेयर हैं। इस खबर के आने के कंपनी की सभी कंपनियों के शेयर में गिरावट आने के कारण मार्केट कैप में एक लाख करोड़ रुपए से ज्‍यादा की गिरावट देखने को मिलीर थी। जिसके बाद अडानी समूह का बयान आया कि यह खबर पूरी तरह से झूठी और गलत है।

सोमवार देर शाम अडानी ग्रुप की ओर से आए बयान में कहा गया है कि अकाउंट फ्रीज होने की खबर पूरी तरह से झूठी है। ग्रुप के अनुसार निवेशकों को हतोत्‍साहित करने के लिए जानबूझकर इस खबर न्‍यूज को फ्लोट किया गया। ग्रुप ने कहा कि 14 जून तक किसी भी विदेशी फंड के डिमैट अकाउंट को फ्रीज नहीं किया गया। वहीं दूसरी ओर ग्रुप की ओर से इस बात का भी स्‍पष्‍टीकरण दिया गया कि किसी भी विदेशी निवेशक पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। इस न्‍यूज ने निवेशकों को नुकसान पहुंचाया ही है साथ ही ग्रुप की प्रतिष्‍ठा पर आघात किया है। अडानी ग्रुप के अनुसार हम माइनॉरिटी शेयर धारकों के हित में यह खुलासा कर रहे हैं कि ऐसी कोई कार्रवाई नहीं की गई है।


एक लाख करोड़ रुपए से ज्‍यादा का नुकसान : भले ही अडानी ग्रुप का स्‍पष्‍टीकरण आया हो, लेकिन उससे पहले ही अडानी ग्रुप कंपनियों के मार्केट कैप में एक लाख करोड़ रुपए से ज्‍यादा का नुकसान हो चुका है। सोमवार को जब बाजार बंद हुआ तो ग्रुप का मार्केट कैप 8.9 लाख करोड़ रुपए था जबकि शुक्रवार को कंपनी का मार्केट 9.5 लाख करोड़ रुपए से ज्‍यादा का देखने को मिला था। सोमवार को ग्रुप की सभी 6 कंपनियों में लोअर सर्किट लगा था। अडानी इंटरप्राइजेज के शेयर 25 फीसदी तक टूट गए थे। जबकि चार कंपनियों के शेयरों में 5 फीसदी का लोअर सर्किट लगा था।


गौतम अडानी की संपत्‍त‍ि 30 हजार करोड़ रुपए हुई कम : इस न्‍यूज का असर जहां कंपनियों के मार्केट कैप पर पड़ा तो वहीं गौतम अडानी की संपत्ति भी कम हुई। सोमवार को कंपनी के शेयरों में गिरावट के कारण गौतम अडानी की दौलत में 5.51 फीसदी की गिरावट देखने को मिली। फोर्ब्‍स के अनुसार गौतम अडानी की संपत्‍त‍ि 4.1 ब‍िलियन डॉलर यानी 30 हजार करोड़ रुपए गिरकर 70.8 बिलियल डॉलर पर आ गई है। जिसकी वजह से वो अमीरों की लिस्‍ट में 15 वें स्‍थान पर आ गए हैं।

Next Stories
1 पश्चिम बंगाल हिंसाः 60 साल की वृद्धा और 17 साल की युवती ने इंसाफ के लिए SC में लगाई गुहार, टीएमसी वर्कर्स पर रेप का आरोप
2 Google Pixel 4a मिल रहा है 5000 रुपये सस्ता, लेकिन क्या जानते हैं इसकी खूबियां और खामियां?
3 जब भूमिगत होकर जज ने लिखा था इंदिरा गांधी के खिलाफ फैसला
ये पढ़ा क्या?
X