ताज़ा खबर
 

लश्कर का टॉप कमांडर इश्फाक राशिद खान ढेर, J&K पुलिस का दावा- अब श्रीनगर से कोई भी युवक नहीं है ‘दहशतगर्दी के दलदल’ में

शहर के बाहरी क्षेत्र में स्थित रनबीरगढ़ इलाके में शनिवार को सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के शीर्ष कमांडर इश्फाक राशिद सहित दो आतंकवादी मार गिराए गए थे।

Author श्रीनगर | Updated: July 26, 2020 9:18 PM
Jammu and kashmir militant, militant jammu and kashmirजम्मू और कश्मीर के श्रीनगर में लाल चौक के पास लगे कर्फ्यू के दौरान का दृश्य। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः शोएब मसूदी)

लश्कर का टॉप कमांडर इश्फाक राशिद खान ढेर, J&K पुलिस का दावा- अब श्रीनगर से कोई भी युवक नहीं है ‘दहशतगर्दी के दलदल’ में

कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने रविवार को कहा कि श्रीनगर का कोई निवासी अब आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा में उच्च पद पर नहीं है। सुरक्षा बलों द्वारा लश्कर के एक शीर्ष कमांडर को मार गिराए जाने के एक दिन बाद कुमार ने यह बात कही है।

कश्मीर जोन पुलिस के ट्विटर हैंडल पर उन्होंने कहा, ”कल लश्कर आतंकी इश्फाक राशिद खान की मौत के बाद अब श्रीनगर जिले का कोई भी नागरिक आतंकी संगठन में उच्च पद पर नहीं है।”

शहर के बाहरी क्षेत्र में स्थित रनबीरगढ़ इलाके में शनिवार को सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के शीर्ष कमांडर इश्फाक राशिद सहित दो आतंकवादी मार गिराए गए थे। इश्फाक श्रीनगर के सोजेथ इलाके का रहने वाला था।

कुमार ने हाल ही में कहा था कि श्रीनगर शहर कभी भी आंतकवाद-मुक्त नहीं हो पाएगा क्योंकि अन्य जिलों से आतंकवादी यहां आते रहते हैं।

पुंछ में एलओसी पर पाकिस्तानी सेना ने गोलीबारी कीः जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में रविवार को नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास अग्रिम क्षेत्रों में पाकिस्तानी सेना ने गोलीबारी की। अधिकारियों ने कहा कि यह लगातार छठा दिन है जब पाकिस्तान ने संघर्षविराम का उल्लंघन किया है। एक रक्षा प्रवक्ता ने कहा, ” आज दोपहर करीब सवा तीन बजे पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले के बालाकोट सेक्टर में एलओसी के पास बिना उकसावे के संघर्षविराम का उल्लंघन कर छोटे हथियारों से गोलीबारी की और मोर्टार दागे।”

फारूक अब्दुल्ला ने जम्मू कश्मीर का पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल करने की अपील कीः जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा वापस लिये जाने को आगामी पांच अगस्त को एक वर्ष पूरा होने से पहले पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने रविवार को इसका पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल किये जाने का आह्वान करते करने के साथ ही उम्मीद जतायी कि उच्चतम न्यायालय संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त किये जाने को खारिज कर न्याय दिलायेगा।

पिछले पांच अगस्त को जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा वा​पस लिये जाने और राज्य को दो हिस्सों में बांटे जाने के बाद पहले मीडिया साक्षात्कार में अब्दुल्ला (82) ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा कि उनकी पार्टी सभी लोकतांत्रिक माध्यमों से बदलाव के लिये संघर्ष करती रहेगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना से मुक्ति दिलाएगा हनुमान चालीसा का पाठ- BJP सांसद साध्वी प्रज्ञा का बयान
2 LAC विवादः तिब्बत के ऊपर से निकला भारतीय जासूसी सैटेलाइट, चीनी सेना की पोजिशन्स पर हासिल की अहम जानकारी
3 ‘पेड़ से बांध करते थे पिटाई, कहते थे- कबूल लो इस्लाम’, तालिबानियों के चंगुल से बचाकर भारत लाए गए अफगान सिख निदान सिंह की आपबीती
ये पढ़ा क्या?
X