ताज़ा खबर
 

जितिन प्रसाद के बीजेपी में जाने के बाद अदिति सिंह ने भी दिया एक बयान, लगने लगे कांग्रेस छोड़ने के कयास

अदिति सिंह खुद कांग्रेस की बागी विधायक है। वह अक्सर पार्टी के खिलाफ बयान देती रहती है। पिछले दिनों उन्होंने प्रवासियों के लिए पार्टी की ओर से बसों को भेजने पर बयान दिया था। इसके बाद उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया गया था। उनके बयान के बाद कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।

रायबरेली की सदर सीट से कांग्रेस की निलंबित विधायक अदिति सिंह। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

कांग्रेस पार्टी से नेताओं के दूसरी पार्टी में जाने के बाद पार्टी के अंदर मंथन शुरू हो गया है। कई लोग पार्टी हाईकमान और बड़े नेताओं से पार्टी में एकजुटता बनाए रखने के लिए कवायद करने की अपील कर रहे हैं। बुधवार को पार्टी नेता जितिन प्रसाद के कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थामने पर पार्टी की असंतुष्ट और निलंबित विधायक अदिति सिंह ने इसको पार्टी के लिए बड़ा झटका बताया है। इस बीच उन्होंने यह भी कहा कि आने वाले दिनों में वह भी तय करेंगी कि उन्हें कहां से और किस पार्टी से चुनाव लड़ना है। उनके इस बयान से उनके भी पार्टी छोड़ने को लेकर कयास लगाए जाने लगे हैं।

अदिति सिंह ने कहा यह बड़ी क्षति है। अब कांग्रेस पार्टी एक परिवार की पार्टी बनती जा रही है। ऐसे में कांग्रेस को आत्ममंथन करना चाहिए। कहा कि पार्टी के सभी बड़े नेता पार्टी से किनारा करते जा रहे हैं। यह एक बड़ा सवाल है। पहले पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया और अब जितिन प्रसाद जैसे वरिष्ठ नेता दूसरी पार्टी में चले गए। बीजेपी में उनका भविष्य उज्ज्वल होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक परिवार की पार्टी बनती जा रही है। हालांकि अदिति सिंह खुद कांग्रेस की बागी विधायक है। वह अक्सर पार्टी के खिलाफ बयान देती रहती है। पिछले दिनों उन्होंने प्रवासियों के लिए पार्टी की ओर से बसों को भेजने पर बयान दिया था। इसके बाद उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया गया था। उनके बयान के बाद कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।

अदिति सिंह पूर्व कांग्रेस नेता अखिलेश सिंह की बेटी हैं। वह सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली के सदर विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। उनके पति अंगद सैनी पंजाब के नवांशहर से कांग्रेस विधायक हैं। अदिति सिंह अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहती हैं। उनके बागी बयान की वजह से ही उन्हें पार्टी ने निलंबित कर रखा है।

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के बाद युवा नेता जितिन प्रसाद के भाजपा में जाने से पार्टी के युवा नेताओं में भविष्य के प्रति असंतोष साफ दिख रहा है। इसको लेकर आशंका जताई जा रही है कि यूपी में चुनाव से पहले कुछ और नेता पार्टी छोड़ सकते हैं।

Next Stories
1 जितिन पर संजय निरूपम का तंज- ये बड़े बाप के बेटे, एंकर ने राहुल पर किया सवाल तो कहा- वो दिन-रात कर रहे मेहनत
2 कोरोनाः एम्स की रिपोर्ट में दावा- खतरनाक डेल्टा वेरिएंट वैक्सीन लेने के बाद भी कर रहा असर
3 कोरोनाः केंद्र की लेटलतीफी पर बिफरा बॉम्बे HC, कहा- वायरस पर होनी थी सर्जिकल स्ट्राइक
ये पढ़ा क्या?
X