ताज़ा खबर
 

1993 मुंबई सीरियल ब्लास्ट में अबू सलेम दोषी करार, लोगों ने पूछा- कब पकड़ा जाएगा मास्टरमाइंड दाऊद इब्राहिम

1993 मुंबई सीरीयल धमाकों में अपना नाम आने के बाद से ही दाऊद भारत सरकार की पहुंच से बहुत दूर हो गया था। हालांकि वो इससे पहले ही मुंबई छोड़कर दुबई में बस गया था।

एक रिपोर्ट के अनुसार, दाऊद भारत में कई बड़े लोगों से बात करता है, इनमें राजनेता भी शामिल है।

शुक्रवार 16 जून को 1993 मुंबई सीरियल ब्लास्ट केस में विशेष टाडा कोर्ट द्वारा माफिया डॉन अबू सलेम समेत 6 लोगों को दोषी करार दिये जाने के बाद सोशल मीडिया पर बहस छिड़ गई कि आखिर कब दाऊद इब्राहिम भारत के हाथ लगेगा। आपको बता दें कि 1993 के मुंबई बम धमाकों में दाऊद का नाम आने के बाद से ही वो देश से फरार चल रहा है। भारत सरकार समेत इंटरपोल दाऊद को गिरफ्तार करने के लिए हर संभव कोशिश कर रही हैं। अभी साल के शुरुआत में जब अबू धाबी के क्राउन प्रिंस भारत आए थे तब मोदी सरकार के साथ उन्होंने यूएई में दाऊद की प्रॉपर्टी संबंधित चर्चा भी की थी। बाद में इस तरह की खबरें भी सामने आी थीं कि यूएई में दाऊद की संपत्ति जब्त की गई है। भारत सरकार को मिली जानकारी के मुताबिक यूएई में दाऊद की लगभग 5 हजार करोड़ की संपत्ति है जो कि उसकी बेटी माहरुख के नाम पर है।

आपको बता दें कि दाऊद की बेटी माहरुख की शादी पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद के बेटे जुनैद के साथ हुई है। इसके अलावा दाऊद की कंस्ट्रंक्शन कंपनी, ईस्ट-वेस्ट एयरलाइंस, किंग वीडियो और मोईन गार्मेंट्स बी माहरुख और जुनैद के नाम ही है। माफिया डॉन दाऊद के अरबों की संपत्ति का सुख उसकी बेटी और दामाद भोग रहे हैं। बताया जाता है कि दुबई में डॉन की बेटी आलीशान जिंदगी जीती है।

1993 मुंबई सीरीयल धमाकों में अपना नाम आने के बाद से ही दाऊद भारत सरकार की पहुंच से बहुत दूर हो गया था। हालांकि वो इससे पहले ही मुंबई छोड़कर दुबई में बस गया था। भारत छोड़ने के बाद भी ये अंडरवर्ल्ड डॉन मुंबई पर अपनी बादशाहत बरकरार रखना चाहता था। बताया जाता है कि मुंबई में सीरियल ब्लास्ट की पूरी प्लानिंग में दाऊद मुख्य सूत्रधार था। शुक्रवार को अबू सलेम समेत 7 आरोपियों को दोषी करार दिये जाने कते बाद एक बार फिर से दाऊद चर्चा का विषय बन गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App