ताज़ा खबर
 

गुजरात: AAP के बाद अब कांग्रेस ने उठाए मोदी की डिग्री पर सवाल, कहा-डेट ऑफ बर्थ में गड़बड़ी

गुजरात के विधायक और कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने भारतीय चुनाव आयोग से आग्रह किया है कि वह पीएम मोदी के शैक्षिक योग्यता के कागजातों में कथित अनिमियताओं पर स्वतः संज्ञान ले।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

गुजरात के विधायक और कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने भारतीय चुनाव आयोग से आग्रह किया है कि वह पीएम मोदी के शैक्षिक योग्यता के कागजातों में कथित अनिमियताओं पर स्वतः संज्ञान ले। एक स्थानीय अखबार की रिपोर्ट में रविवार को बताया गया कि मोदी ने प्री साइंस डिग्री विसनगर कॉलेज से ली थी। डिग्री में पीएम मोदी की जन्मतिथि 29 अगस्त, 1949 लिखी हुई है। जबकि, चुनाव आयोग को जो हलफनामा जमा कराया था, उसमें उनकी जन्मतिथि 17 सितंबर 1950 बताई गई है। मीडिया को कॉलेज रिकॉर्ड शीट की फोटोकॉपी देते हुए गोहिल ने पूछा, ‘विसनगर की एमएन साइंस कॉलेज की रिकॉर्ड शीट के मुताबिक नरेंद्रकुमार दामोदरदास मोदी की जन्मतिथि 29 अगस्त 1947 बताई गई है। चुनाव आयोग को दिए गए हलफनामे में उनकी जन्मतिथि 17 सितंबर 1950 बताई गई। जन्मतिथि में यह अंतर क्यों है?’

रविवार शाम को अपने निवास पर कॉन्फ्रेंस बुलाकर गोहिल ने कहा, ‘मोदी की शैक्षिक योग्यता जानने के लिए पिछले सात सालों में 70 आरटीआई दाखिल की गई थी। लेकिन सीएम ऑफिस और गुजरात यूनिवर्सिटी लगातार यह जानकारी देने से इनकार किया जाता रहा। अभी 2 दिन में ऐसा क्या हो गया कि गुजरात यूनिवर्सिटी कुछ ज्यादा ही सक्रिय हो गई और वह जानकारी दे रही है।’ साथ ही गोहिल ने कहा, ‘लोगों को पीएम मोदी की छाती की साइज में रूचि नहीं है, लेकिन जिसको उन्होंने वोट दिया है, उसकी योग्यता जानने का अधिकार है।’ साथ ही गोहिल ने मांग की है कि पीएम मोदी ने बीए की डिग्री कहां से हासिल की है और उनके दस सहपाठियों के नाम भी सार्वजनिक किए जाएं। अगर उन्होंने दो अलग-अलग यूनिवर्सिटी से दो डिग्रियां ली हैं तो उनके माइग्रेशन सर्टिफिकेट की जानकारी भी देनी चाहिए।

बता दें, कि रविवार को गुजरात विश्वविद्यालय के कुलपति एम एन पटेल ने बताया कि नरेन्द्र दामोदरदास मोदी ने 1983 में राजनीति विज्ञान में एमए की परीक्षा पास की और बाहरी छात्र के तौर पर 800 में से 499 अंक हासिल किए जो 62 . 3 फीसदी है। लेकिन पटेल ने मार्कशीट की कॉपी शेयर करने से मना कर दिया। उन्होंने कहा, ‘मैं मार्कशीट की कॉपी मीडियाकर्मी या थर्ड पार्टी को नहीं दे सकता। यह केवल उम्मीदवार को ही दी जा सकती है। अगर मुझे पीएमओ या फिर सीआईसी से निर्देश मिलते हैं तो मैं मीडिया को इसकी कॉपी दे सकता हूं।’

Read Also: मजदूर दिवस पर पीएम मोदी ने शुरू की उज्जवला योजना, 5 करोड़ गरीबों को मिलेगी मुफ्त रसोई गैस

साथ ही पटेल ने बताया कि उन्होंने छह महीने पहले पीएमओ ऑफिस को पीएम मोदी की योग्यता की जानकारी वट्सऐप के जरिए भेजी थी। उस वक्त भी मार्कशीट की कॉपी नहीं भेजी गई, क्योंकि पीएमओ द्वारा मार्कशीट नहीं मांगी गई थी। गौरतलब है कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के अनुरोध के बाद केंद्रीय सूचना आयुक्त ने पीएमओ को पीएम मोदी की दिल्ली यूनिवर्सिटी और गुजरात यूनिवर्सिटी से हासिल शैक्षिक योग्यता की जानकारी सार्वजनिक करने का निर्देश दिया था।

Read Also: केजरीवाल के बयान से उठे विवाद के बाद खुलासा- पीएम मोदी ने फर्स्ट डिविजन से ली MA की डिग्री

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App