ताज़ा खबर
 

मुस्लिमों के विकास के लिए ठोस रणनीति बनाए मोदी सरकार: हामिद अंसारी

उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने देश में मुसलमानों के समक्ष मौजूद पहचान और सुरक्षा की समस्याओं को हल करने के लिए रणनीतियां बनाने की आज जोरदार वकालत की और ‘सबका विकास’...

नई दिल्ली | Updated: September 1, 2015 1:28 PM
उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने देश में मुसलमानों के समक्ष मौजूद पहचान और सुरक्षा की समस्याओं को हल करने के लिए रणनीतियां बनाने की जोरदार वकालत की। (पीटीआई फोटो)

उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने देश में मुसलमानों के समक्ष मौजूद पहचान और सुरक्षा की समस्याओं को हल करने के लिए रणनीतियां बनाने की जोरदार वकालत की और ‘सबका विकास’ की नीति पर चल रही सरकार से इस संबंध में ठोस कार्रवाई को कहा।

उन्होंने कहा कि सुरक्षा मुहैया कराने में विफलता समेत बहिष्कार एवं भेदभाव के संदर्भ में शासन द्वारा यथाशीघ्र सुधार किया जाए तथा उसके लिए उपयुक्त व्यवस्था की जाए। वह मुस्लिम संगठनों के शीर्ष फोरम ऑल इंडिया मजलिए-ए-मशावरत के स्वर्णजयंती समारोह में अपना विचार रख रहे थे। उन्होंने कहा, ‘‘वंचना, बहिष्कार और भेदभाव (जिसमें सुरक्षा देने में विफलता भी शामिल है) के संदर्भ में शासन या या उससे जुड़ी व्यवस्था की गलती शासन द्वारा सुधारी जाए।’’

उपराष्ट्रपति की मुस्लिमों के लिए ‘सकारात्मक कार्रवाई’ करने संबंधी टिप्पणी ‘सांप्रदायिक’: विहिप

उन्होंने कहा, ‘‘ऐसा यथाशीघ्र करने एवं उसके लिए उपयुक्त व्यवस्था करने की जरूरत है।’’ अंसारी ने कहा कि राष्ट्र के सामने चुनौती मुसलमानों के सामने मौजूद मुददों जैसे सशक्तिरण, राज्य संपदा में समान हिस्सा हासिल करना और निर्णय की प्रक्रिया में उचित हिस्सेदारी आदि का समाधान करने के लिए रणनीतियां एवं प्रविधियां भी विकसित करना है।

उपराष्ट्रपति ने कहा, ‘‘सरकारी उद्देश्य ‘सबका साथ सबका विकास’ प्रशंसनीय है और उसकी पूर्वशर्त ठोस कार्रवाई है ताकि साझा प्रारंभिक बिंदु हो तथा सभी में जरूरी गति से आगे बढ़ने की क्षमता हो।’’

Next Stories
1 हिन्दी सम्मेलन के लिए नीतीश सहित सभी राज्यों के मुख्यमंत्री आमंत्रित
2 ‘बलात्कार के दर्द से गुजरने वाली बच्ची कभी उस घटना को याद नहीं करना चाहेगी’
3 विश्व हिंदी सम्मेलन दस से, प्रधानमंत्री करेंगे उद्घाटन
ये पढ़ा क्या?
X