कांग्रेस के अधीर रंजन बोले- ममता ने हर बार उस हाथ को काटा जिसने उन्हें खिलाया, कहा- BJP के खिलाफ लड़ाई में नहीं किया जा सकता है भरोसा

कांग्रेस के सीनियर नेता अधीर रंजन चौधरी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर आरोप लगाया कि वह BJP को फायदा पहुंचाने की कोशिश कर रही हैं।

Adhir Ranjan Chowdhury, Mamata Banerjee,
अधीर रंजन चौधरी (बाएं), ममता बनर्जी (दाएं)। Photo Source- Indian Express

कांग्रेस के सीनियर नेता अधीर रंजन चौधरी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर आरोप लगाया कि वह BJP को फायदा पहुंचाने की कोशिश कर रही हैं। उन्होंने कहा कि 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले विपक्ष का एकजुट करने की सभी कोशिशों से उन्हें दूर रखा जाना चाहिए। चौधरी ने समाचार एजेंसी से इंटरव्यू में कहा कि बनर्जी ‘‘भरोसे लायक सहयोगी नहीं’’ हैं, जो कांग्रेस की कीमत पर राष्ट्रीय राजनीति के मंच पर आना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी ने हमेशा ही उस हाथ को दांत से काटने की कोशिश की, जिसने उन्हें खाना खिलाया। उन्हें विपक्षी एकता बनाने की कोशिशों से दूर रखना चाहिए। वह भाजपा को फायदा पहुंचाने की कोशिश कर रही हैं और भगवा पार्टी के खिलाफ लड़ाई में उन पर कभी विश्वास नहीं किया जा सकता।

प्रदेश कांग्रेस प्रमुख चौधरी ने दावा किया कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा को खुश करने की कोशिश कर रही हैं, ताकि उनके परिवार और पार्टी (TMC) नेताओं को CBI और ED की गिरफ्त में आने से बचाया जा सके। बदले में वह बीजेपी को कांग्रेस मुक्त भारत के उसके टारगेट को हासिल करने में मदद कर रही है। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस विपक्षी एकता को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस हमेशा ही कांग्रेस को नुकसान पहुंचा कर आगे बढ़ी है।

चौधरी ने दावा किया कि पहले, उन्होंने यह बंगाल में किया और अब वे इसे राष्ट्रीय स्तर पर करने की कोशिश कर रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस अपने सहयोगियों की पीठ में छुरा घोंपने के लिए जानी जाती है। राष्ट्रीय स्तर पर खुद को मजबूत करने के लिए तृणमूल कांग्रेस द्वारा कांग्रेस नेताओं को टीएमसी में शामिल करने के बीच उनका यह बयान आया है। तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में सुष्मिता देव और गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री लुईजिन्हो फालेयरो हैं।

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के अनुसार ममता बनर्जी देश का अगला प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रही हैं और इसमें कांग्रेस उनको सबसे बड़ी बाधा प्रतीत हो रही है। जब तक कांग्रेस है, वह कभी विपक्षी मोर्चे की नेता नहीं बन सकती हैं और इसलिए वह कांग्रेस की छवि धूमिल करने तथा नेतृत्व को कमजोर करने की कोशिश कर रही हैं।

टीएमसी के मुखपत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ विपक्ष का चेहरा कांग्रेस नेता राहुल गांधी नहीं, बल्कि ममता के होने का दावा करने वाले आलेख पर उन्होंने कहा कि (टीएमसी) पार्टी नेतृत्व काल्पनिक दुनिया में रह रहा है। चौधरी ने कहा कि भाजपा और आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) के खिलाफ विपक्ष की ओर से आवाज उठाने में राहुल गांधी निरंतर ही मुखर रहे हैं। कांग्रेस अब भी देश में 20 फीसदी वोट रखती है। भाजपा के अलावा, क्या आप किसी और पार्टी का नाम बता सकते हैं कि जिसके पास इतना अधिक वोट प्रतिशत हो? इसका जवाब है ‘नहीं’।

राहुल गांधी की अगुवाई की सराहना करते हुए चौधरी ने कहा कि भाजपा और कुछ अन्य विपक्षी पार्टियां जानबूझ कर उन्हें बदनाम करने की कोशिश कर रही हैं क्योंकि वे उनसे डरती हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट