ताज़ा खबर
 

आदर्श घोटाले में आरोपी रहेंगे अशोक चव्हाण

कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण को तब करारा झटका लगा जब बुधवार को मुंबई उच्च न्यायालय ने उनका नाम आदर्श घोटाले के आरोपियों की सूची से निकालने की याचिका खारिज कर दी। यह याचिका केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई)ने दायर की थी। न्यायालय ने स्पष्ट कहा कि अशोक चव्हाण का नाम आरोपियों […]

Author November 20, 2014 9:26 AM
अशोक चव्हाण को तब करारा झटका लगा जब मुंबई उच्च न्यायालय ने उनका नाम आदर्श घोटाले के आरोपियों की सूची से निकालने की याचिका खारिज कर दी।

कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण को तब करारा झटका लगा जब बुधवार को मुंबई उच्च न्यायालय ने उनका नाम आदर्श घोटाले के आरोपियों की सूची से निकालने की याचिका खारिज कर दी। यह याचिका केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई)ने दायर की थी। न्यायालय ने स्पष्ट कहा कि अशोक चव्हाण का नाम आरोपियों की सूची में रहेगा।

आदर्श सोसाइटी में शिवाजी राव निलंगेकर पाटील, जयंत पाटील, डीके शंकरन जैसे नेता और नौकरशाहों के रिश्तेदारों को फ्लैट मिले हैं, मगर सीबीआई ने उन्हें आरोपी नहीं बनाया है। चव्हाण की ओर से अदालत में इस आशय का तर्क प्रस्तुत किया गया था। मगर अदालत ने इस तर्क को खारिज कर दिया।

दरअसल सीबीआई ने बीते दिसंबर में राज्यपाल के शंकरनारायणन से अशोक चव्हाण की जांच करने के लिए स्वीकृति मांगी थी मगर राज्यपाल ने स्वीकृति नहीं दी। इसके बाद सीबीआई ने पहले विशेष सीबीआई अदालत और बाद में उच्च न्यायालय में आरोपियों की सूची से अशोक चव्हाण का नाम हटाए जाने की याचिका दायर की थी। सोमवार को न्यायाधीश एम एल तहलियानी के सामने याचिका पर सुनवाई हुई। सीबीआई की ओर से एडवोकेट हितने वेणेगावकर और चव्हाण की ओर से एडवोकेट अमित देसाई ने अपना पक्ष रखा। अदालत ने इसके बाद फैसला सुरक्षित रखा था।

करगिल युद्ध में शहीद हुए सैनिकों की विधवाओं को घर देने के लिए मुंबई के कोलाबा इलाके में आदर्श नामक इमारत बनाई गई थी। मगर इस इमारत में अधिकांश फ्लैट नेताओं के रिश्तेदारों और सरकारी अफसरों को दे दिए गए। जब यह गड़बड़ घोटाला सामने आया, तब राज्य के मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण थे, जिन्हें आदर्श घोटाले के बाद 2010 में मुख्यमंत्री पद से हटना पड़ा था। इसके बाद हाशिए पर चले गए चव्हाण बीते दिनों कांग्रेस विधायक दल के नेता के चुनाव में फिर सक्रिय तौर पर नजर आए। राधाकृष्ण विखे पाटील कांग्रेस विधायक दल के नेता चुने गए जिन्हें अशोक चव्हाण ने समर्थन दिया था।

माणिकराव ठाकरे के प्रदेशाध्यक्ष पद से इस्तीफे के बाद इन दिनों अशोक चव्हाण का नाम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के पद के लिए काफी आगे माना जा रहा है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App