ताज़ा खबर
 

Adani Group के 3 एयरपोर्ट्स को अब ACI स्वास्थ्य मान्यता, संचालन का काम देने पर पहले NITI Aayog-वित्त मंत्रालय ने जताई थी आपत्ति

अडानी समूह के द्वारा जारी किये गए बयान में बताया गया है कि हवाईअड्डा स्वास्थ्य मान्यता (एएचए) कार्यक्रम के तहत एसीआई 118 बिंदुओं के आधार पर समीक्षा करती है। अडाणी एयरपोर्ट के सीईओ बेन जेंडी ने कहा कि यह मान्यता कोविड-19 महामारी और आगामी टीकाकरण अभियान के मद्देनजर हवाई यातायात को मजबूती देने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

adani , airport , indiaउद्योगपति गौतम अडानी (फोटो – एक्सप्रेस आर्काइव)

अडाणी समूह ने सोमवार को बताया कि उसके द्वारा संचालित तीन हवाई अड्डों अहमदाबाद, मंगलुरु और लखनऊ को सुरक्षित यात्रा मुहैया कराने के लिए अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा परिषद (एसीआई) से हवाईअड्डा स्वास्थ्य मान्यता मिली है। एसीआई कार्यक्रम से यात्रियों, कर्मचारियों, नियामक और सरकारों को पता चलता है कि हवाईअड्डों पर स्वास्थ्य और सुरक्षा को उचित प्राथमिकता दी जा रही है।

अडानी समूह के द्वारा जारी किये गए बयान में बताया गया है कि हवाईअड्डा स्वास्थ्य मान्यता (एएचए) कार्यक्रम के तहत एसीआई 118 बिंदुओं के आधार पर समीक्षा करती है। अडाणी एयरपोर्ट के सीईओ बेन जेंडी ने कहा कि यह मान्यता कोविड-19 महामारी और आगामी टीकाकरण अभियान के मद्देनजर हवाई यातायात को मजबूती देने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने कहा कि हम दुनिया की सर्वोत्तम प्रथाओं के साथ अपनी तैयारियों को मजबूत बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

साल 2019 में हुई एयरपोर्ट की बिडिंग को लेकर नीति आयोग और वित्त मंत्रालय ने आपत्ति जताई थी। दोनों संस्थाओं ने कहा था कि एक ही कंपनी को 6 एयरपोर्ट नहीं दिए जाने चाहिए। लेकिन इसके बावजूद इसी साल 12 जनवरी को एयरपोर्ट अथॉरिटी ने अडानी समूह के लिए दरवाज़े खोल दिए।  इसके साथ ही अडानी ग्रुप ने मुंबई एयरपोर्ट को भी हथिया लिया।अडानी ग्रुप इन सभी 6 एयरपोर्ट को अगले 50 साल तक संचालित करेगा।

6 एयरपोर्ट मिलने के साथ ही अडानी देश का सबसे प्राइवेट फर्म बन गया है जो इतने एयरपोर्ट को एकसाथ संचालित करता है। अडानी को मिले सभी एयरपोर्ट से देश का करीब 34.10 प्रतिशत घरेलू ट्रैफिक गुजरता है। एयरपोर्ट की बिडिंग प्रक्रिया में अडानी ग्रुप के अलावा जीएमआर ग्रुप, जुरिक एयरपोर्ट और कोच्चि इंटरनेशनल एयरपोर्ट भी शामिल था। जीएमआर ग्रुप एयरपोर्ट संचालन के लिए सभी योग्यताएं भी रखता था लेकिन इसके बावजूद उसे एयरपोर्ट नहीं दिए गए।

इसके अलावा फ्रांस के तेल और ऊर्जा समूह टोटल ने अडाणी समूह की कंपनी अडाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) में 20 प्रतिशत हिस्सेदारी 2.5 अरब डॉलर में हासिल करने के लिए एक समझौता किया है। दोनों कंपनियों द्वारा जारी एक बयान में कहा गया कि इस सौदे से पेरिस स्थित टोटल को दुनिया के सबसे बड़े सौर ऊर्जा विकासकर्ता में हिस्सेदारी हासिल करने के साथ ही 2.35 गीगावाट की चालू सौर परिसंपत्तियों में 50 प्रतिशत हिस्सा मिलेगा।

भाषा इनपुट्स के साथ

Next Stories
1 किसान आंदोलन में फूट? कक्का जी को बताया चढ़ूनी ने RSS एजेंट, हो सकता है ऐक्शन
2 राम मंदिरः चंदे से जुड़ी रैली में झड़प! पत्थरबाजी-आगजनी, 3 जख्मी; 200 मीटर दूर मिली 1 लाश
3 अर्णब-BARC के लीक चैट पर NBA हैरान! बोला- Repubic TV की IBF मेंबरशिप हो फौरन सस्पेंड
आज का राशिफल
X