ताज़ा खबर
 

जो अपनी Degree नहीं दिखा सकते, वे हमसे दस्तावेज मांग रहे हैं; Actor प्रकाश राज बोले- जनता सिखाएगी सबक

नए नागरिकता कानून पर भड़के अभिनेता बोले, "सीएए, एनआरसी, एनपीआर का विरोध करने वाले लोग शिक्षित हैं, हिटलर के अवतार पीएम मोदी को हटाकर ही मानेंगे।" संविधान के एक शब्द को भी नहीं बदलने देंगे।

caa, nrc, hyderabadहैदराबाद में CAA के खिलाफ सभा में बोलते अभिनेता प्रकाश राज (फोटो सोर्स राहुल पिशारोडी -इंडियन एक्सप्रेस)

नए नागरिकता कानून के खिलाफ चल रहे आंदोलन का समर्थन करते हुए फिल्म अभिनेता प्रकाश राज ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष किया। कहा कि जो लोग अपनी डिग्री नहीं दिखा पा रहे हैं, वे हमसे डिग्री मांग रहे हैं। अभिनेता हैदराबाद में नए नागरिकता अधिनियम के खिलाफ यंग इंडिया नेशनल कोऑर्डिनेशन कमेटी द्वारा आयोजित एक विरोध बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने पीएम मोदी से कहा कि पहले वे अपनी डिग्री दिखाएं।

कहा देश के लोग आपको हटा देंगे: बोले “जो हमसे हमारे दस्तावेज के बारे में पूछ रहे हैं, उनके पास दिखाने के लिए डिग्री नहीं है, वे ‘परीक्षा पे चरचा’ कार्यक्रम का आयोजन कर रहे हैं,” अभिनेता ने कहा, “उनके पास पूरे राजनीति विज्ञान में डिग्री है, लेकिन वह दिखाऊंगा नहीं। पीएम से बोले मैं आपको बताता हूं, इस देश के लोग आपको पूरी राजनीति विज्ञान सिखाएंगे और आपको हटाएंगे।

Hindi News Live Hindi Samachar 20 January 2020: देश की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

बोले पहले बेरोजगारों का रजिस्टर बनाएं: उन्होंने कहा कि सीएए, एनआरसी, एनपीआर का विरोध करने वाले लोग “शिक्षित” हैं और वे संविधान के एक शब्द को भी नहीं बदलने देंगे। उन्होंने प्रधानमंत्री को “एडोल्फ हिटलर का अवतार” बताते हुए कहा, “आप हमारे सेवक हैं। अपना काम करो। यदि आप वास्तव में अपना काम करना चाहते हैं, तो आप बेरोजगारों का एक रजिस्टर बनाएं, या उन लोगों का एक रजिस्टर बनाएं जो शिक्षा प्राप्त नहीं कर सके।”

प्रदर्शनकारियों ने कहा, कानून निरस्त होने तक करेंगे आंदोलन: विरोध में आए लोगों ने सरकार विरोधी नारे लगाए और तिरंगा लहराया। सभा में मौजूद एक प्रदर्शनकारी ने कहा, “इस देश के 70 प्रतिशत लोग गरीब हैं। उनके पास शिक्षा नहीं है, उनके पास कोई दस्तावेज नहीं है। आप हमारे वोट लेने के बाद हमें दूसरे दर्जे का नागरिक बनाना चाहते हैं?” एक अन्य प्रदर्शनकारी ने कहा, “पहले सूचना के अधिकार कानून को कमजोर किया गया, फिर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) को मजबूत किया गया। धारा 370 को रद्द कर दिया गया और फिर नागरिकता अधिनियम में संशोधन पारित किया गया।” उन्होंने कहा, “जिन लोगों को अंबेडकर की दृष्टि और संविधान में विश्वास है, वे इस लड़ाई को तब तक जारी रखेंगे, जब तक कि अधिनियम निरस्त नहीं हो जाता है।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 प्रियंका गांधी की 6 महीनों की तलाश हुई पूरी, CM योगी को टक्कर देने के लिए लखनऊ में…
2 बेंगलुरु: 200 से ज्यादा अस्थायी घरों पर चला बुलडोजर, सड़क पर आए परिवार; पुलिस बोली “अवैध बांग्लादेशी” रहते थे
3 बचपन से पास रहे, शादी की, आईपीएस बने और अब पति की बॉस बनीं डीसीपी पत्‍नी
ये पढ़ा क्या?
X