ताज़ा खबर
 

‘अगर सुशांत ड्रग्स लेते थे, तो लेते थे’, कह नासिर अब्दुल्ला लगे एंकर पर भड़कने, एंकर का जवाब- यूं कीचड़ न उछालें

बॉलीवुड एक्टर नासिर अब्दुल्ला ने कहा कि मैं पिछले 33 साल से इंडस्ट्री में हूं और यह ड्रग्स केस तबसे चले आ रहे हैं, पर कभी कोई ऐक्शन नहीं हुआ।

nasir abdullah bollywod drug nexusअभिनेता नासिर अब्दुल्ला। (फाइल फोटो)

सुशांत सिंह राजपूत केस में नए-नए खुलासे होने के बाद अब बॉलीवुड में ड्रग्स के इस्तेमाल को लेकर नई बहस छिड़ गई है। जहां नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो अब मुंबई में जांच में तेजी दिखाते हुए लगभग हर दिन बड़े सेलिब्रिटिज को पूछताछ के लिए बुला रहा है, वहीं राजनीतिक दल भी इस मुद्दे पर गहरी नजर बनाए हुए हैं। इस बीच टीवी डिबेट्स में इस मुद्दे पर तीखी बहस हो रही हैं। एक हालिया टीवी डिबेट में जब एंकर ने पैनल में शामिल अभिनेता नासिर अब्दुल्ला से सुशांत केस पर सवाल पूछे, तो नासिर ने कहा कि सुशांत ड्रग्स लेते थे, तो लेते थे। हालांकि, जब एंकर ने कहा कि आप सुशांत पर कीचड़ न उछालें, तो अब्दुल्ला भड़क उठे और उन्होंने एंकर पर मुंह में जबरदस्ती शब्द डालने का आरोप लगा दिया

आजतक पर टीवी डिबेट के दौरान जब एंकर अंजना कश्यप ने कहा कि आपको मेरा पूरा सवाल सुनना चाहिए, क्योंकि आपने ही कहा था कि मैं उनकी बड़ाई कर रही हूं, मैं उन्हें मरने के बाद ईमानदार बता रही हूं। इस पर नासिर भड़क उठे। उन्होंने कहा कि अगर सुशांत ड्रग्स लेते थे, तो लेते थे, वे कोई आतंकवादी नहीं हैं। मैंने सुशांत पर कोई कीचड़ नहीं उछाला। वे दूध पीते बच्चे नहीं थे। मेरे मुंह में अल्फाज नहीं डालिए। वे सब जानते थे, बच्चे नहीं थे। ड्रग्स लेते थे, यह कोई बुरी बात नहीं है।

नासिर ने किया खुलासा, इंडस्ट्री में लंबे समय से चला आ रहा है ड्रग्स का प्रयोग: नासिर अब्दुल्ला ने आगे कहा कि मैं पिछले 33 साल से इंडस्ट्री में हूं और यह ड्रग्स केस तबसे चले आ रहे हैं। क्यों इस पर कभी एक्शन नहीं हुआ, मुझे नहीं पता। मैं राजनीति में नहीं हूं। यह चीज बढ़ती जा रही है। यह एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में चलता आ रहा है, यह यहां ज्यादा इस्तेमाल होता है। यह अंदर का मामला है। हालांकि, इस पर शो में मौजूद पैनलिस्ट ने इसे शर्मनाक बताया और कहा कि आपको इस गंदगी को साफ करना चाहिए था।

‘भारी ड्रग्स पर हमला करना जरूरी’: गौरतलब है कि इससे पहले नासिर अब्दुल्ला ने एक टीवी डिबेट में कहा था कि भारी ड्रग पर सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा था, “गांजा हल्का ड्रग होता है और कोकीन भारी ड्रग होता है। दोनों में बड़ा फर्क है। गांजा और हसीस बीते 40 सालों से इस्तेमाल हो रहा है लेकिन अब नया नया उबाल आया है कि इस पर हमला किया जाए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 COVID-19 ले लेगा 20 लाख जानें- विश्व में महामारी के फैलाव के बीच WHO ने किया आगाह
2 भारत में कोरोना से प्रति दस लाख मौतों का आँकड़ा चीन से 23 गुना ज़्यादा, अर्थशास्त्री कौशिक बसु ने शेयर किया आईना दिखाने वाला डेटा
3 किसान नेता यशपाल मलिक बोले- कृषि अध्यादेशों से किसान के साथ ही खेती में जुटा मजदूर भी मरेगा
यह पढ़ा क्या?
X