ताज़ा खबर
 

शाहीन बाग में 9 फरवरी को होगा उपदेश राना का जवाबी धरना, जामिया में फायरिंग करने वाले नाबालिग ने कहा था- मेरे पास आधे फ़ॉलोअर्स भी होते तो जलियांवाला बाग बना देता

यहां आपको बता दें कि जिस लड़के ने बीते गुरुवार को जामिया प्रदर्शन के दौरान खुलेआम फायरिंग की थी वो लड़का भी उपदेश राना को सोशल मीडिया पर फॉलो करता था।

Author Edited By Nishant Nandan Updated: February 1, 2020 8:45 AM
शाहीन बाग में कई महिलाएं धरना पर बैठी हैं। फोटो सोर्स – Indian Express

जाने-माने कार्यकर्ता उपदेश राना ने दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के विरुद्ध धरना देने का फैसला किया है। इसी महीने की 9 तारीख को उपदेश राना ने शाहीन बाग में चल रहे धरने को काउंटर करने का फैसला किया है। राना, ‘उपदेश राना यूथ ब्रिगेड’ नाम से एक संगठन चलाते हैं। उपदेश राना ने बताया कि यूथ ब्रिगेड ‘गौ सेवा’ जैसे कामों में शामिल है। उन्होंने कहा कि ‘मैंने 9 फरवरी को शाहीन बाग आने की योजना बनाई है। पुलिस ने बीते दिनों मुझसे मेरी योजना के बारे में पूछा था। हालांकि अभी मैंने शाहीन बाग में अपनी उपस्थिति की पुष्टि नहीं की है। हम वहां एक धऱना आयोजित करना चाहते हैं। महिलाएं भी हमारा समर्थन करेंगी…लेकिन हमारा प्रदर्शन लोकतांत्रिक तरीके से होगा।’

यहां आपको बता दें कि जिस लड़के ने बीते गुरुवार को जामिया प्रदर्शन के दौरान खुलेआम फायरिंग की थी वो लड़का भी उपदेश राना को सोशल मीडिया पर फॉलो करता था। इस नाबालिग ने अपने फेसबुक पोस्ट में यह कहा था कि अगर उसके पास राना से आधे फॉलोअर्स भी होते तो वो शाहीन बाग को ‘जालियावाला बाग’ बना देता। इस नाबालिग को लेकर उपदेश राना ने कहा है कि ‘मैं इस नौजवान को निजी तौर पर नहीं जानते हैं। हो सकता है कि वो मुझसे मिला हो और दूसरे की तरह उसने मेरे साथ अपनी तस्वीर खिंचवाई हो। वो मुझे अक्सर मैसेज भेजा करता था लेकिन मुझे याद नहीं कि मैंने कभी उसे रिप्लाई किया हो।’

आपको बता दें कि राना को साल 2017 में जयपुर में गिरफ्तार किया गया था। उस वक्त राना ने शंभूलाल रेगार के समर्थन में रैली आयोजित की थी। शंभूलाल रेगार पर राजस्थान में एक मुस्लिम श्रमिक की हत्या करने और उसका वीडियो बनाने का आरोप है। आपको बता दें कि फेसबुक पर कई ऐसे ग्रुप हैं जो राना को सपोर्ट करते हैं। इनमें से एक ग्रुप के करीब 1.25 लाख फॉलोअर्स हैं। एक दूसरे ग्रुप में 26,000 सदस्य हैं जो करीब 3.700 पोस्ट हर रोज डालते हैं। इस ग्रुप ने अपना जो परिचय दिया है उसमें यह भी लिखा है कि मुसलमान इस ग्रुप से दूर रहें। इतना ही नहीं इस ग्रुप से जुड़ने वाले लोगों से यह भी पूछा जाता है कि वो हिंदू हैं या नहीं?

गुरुवार को जामिया प्रदर्शन के दौरान गोली चलने की घटना के बाद अगले ही दिन शुक्रवार को जिस नाबालिग ने जामिया प्रदर्शन के दौरान गोली चलाई थी उसके समर्थन में फेसबुक पर कई पोस्ट डाले गए। कुछ ने उसे ‘हिंदू शेर’ भी कहा। आपको बता दें कि फेसबुक, टिकटॉक समेत कई सोशल मीडिया पर जामिया प्रदर्शन के दौरान फायरिंग करने वाले शख्स की तारीफ की जा रही है। उसकी तुलना ‘सुपरमैन’ से भी की जा रही है। लोग यह लिख रहे हैं कि हर समाज में एक ‘सुपरमैन’ की जरुरत है। कई अन्य सोशल मीडिया पोस्ट में उसे ‘रामभक्त’ बताया जा रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 CAA पर की चर्चा तो बंद हो जाएगा विश्वविद्यालय- दिल्ली स्थित अंतरराष्ट्रीय यूनिवर्सिटी ने छात्रों को दी चेतावनी
2 Air Asia और Vistara से सफर कर सकेंगे कुणाल कामरा, मंत्री के ट्वीट के बावजूद बिना जांच नहीं लगाया बैन
3 बजट: पीएम मोदी ने कहा- ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार बढ़ाएगा ये बजट, नौजवानों को मिलेगी नौकरी
IPL 2020 LIVE
X