ताज़ा खबर
 

नाबालिग को अगवा कर रेप किया, बेल पर छूटा तो फिर उसी लड़की को हवस का शिकार बनाया, पुलिस ने दोनों बार की लापरवाही

22 वर्षीय शाहरुख़ खान नाम के एक आरोपी ने 11 अक्टूबर 2020 को 14 वर्षीय लड़की को अगवा किया और उसके साथ रेप किया। पुलिस ने शाहरुख़ खान को तो गिरफ्तार कर लिया लेकिन उस पर पाॅक्साे एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज नहीं किया गया। जिसकी वजह से अदालत ने आरोपी को जमानत दे दी। आरोपी ने इसी बात का फायदा दोबारा से उठाते हुए हुए बीते 31 दिसंबर को एक बार फिर से उसी नाबालिग का अपहरण कर अपनी हवस का शिकार बनाया।

crime , sexual Assaultप्रतीकात्मक तस्वीर (फोट क्रेडिट – freepik)

मध्यप्रदेश के सीहोर जिले से दरिंदगी का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनकर किसी का मन विचलित हो सकता है। आरोपी ने पहले एक बार 14 वर्षीय नाबालिग को अगवा कर रेप किया। जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया। लेकिन जैसे ही वह बेल से छूट कर वापस आया तो उसने दोबारा से वही दरिंदगी की। फिर उसने नाबालिग को अगवा किया और उसको हवस का शिकार बनाया। इस मामले में पुलिस ने दोनों बार लापरवाही दिखाई और उचित एक्ट के तहत मामला दर्ज नहीं किया।

22 वर्षीय शाहरुख़ खान नाम के एक आरोपी ने 11 अक्टूबर 2020 को 14 वर्षीय लड़की को अगवा किया और उसके साथ रेप किया। पुलिस ने शाहरुख़ खान को तो गिरफ्तार कर लिया लेकिन उस पर पाॅक्साे एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज नहीं किया गया। जिसकी वजह से अदालत ने आरोपी को जमानत दे दी। आरोपी ने इसी बात का फायदा दोबारा से उठाते हुए हुए बीते 31 दिसंबर को एक बार फिर से उसी नाबालिग का अपहरण कर अपनी हवस का शिकार बनाया। साथ ही आरोपी ने नाबालिग को किसी को भी कुछ बताने पर बुरा अंजाम भुगतने की धमकी दी।

बाद में जैसे ही नाबालिग लड़की ने अपनी माँ को सारी बात बताई तो दोनों पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराने पहुँचे। लेकिन पुलिस ने दोबारा से पाॅक्साे एक्ट के तहत मामला दर्ज नहीं किया। बाद में पीड़िता की माँ ने इसकी शिकायत चाइल्ड हेल्प लाइन में की। चाइल्ड हेल्प लाइन के कहने पर भी जब पुलिस ने पाॅक्साे एक्ट नहीं लगाया। फिर बाद में बाल कल्याण समिति के हस्तक्षेप पर पुलिस ने आरोपी शाहरुख़ खान पर पाॅक्साे एक्ट के तहत मामला दर्ज किया। 

जानकारी मिलने तक आरोपी के फरार होने की बात कही गयी है। साथ ही बाल कल्याण समिति ने सीहोर के पुलिस अधीक्षक को पत्र लिख कर यह पूछा है कि आखिर नाबालिग पीड़िता के साथ दुष्कर्म की घटना होने के बावजूद क्यों आरोपी के खिलाफ पाॅक्साे एक्ट के तहत मामला दर्ज नहीं किया गया था। बाल कल्याण समिति की तरफ से पीड़िता और उसके परिवारजनों को भोपाल में सुरक्षित जगह पर रखा गया है।

Next Stories
1 किसानों से बातचीत से पहले दो मिनट का मौन: कृषि मंत्री ने कहा- ज़्यादातर यूनियन नए क़ानूनों से खुश हैं, किसान नेता बोले- उनसे मिलवा दें हमें
2 किसान आंदोलन: अडानी के बाद अंबानी का भी बयान- रिलायंस किसानों के साथ, कांट्रैक्ट फ़ार्मिंग नहीं करेगी, न ही इसके लिए जमीन ली है
3 जानें-समझें: न्यूनतम समर्थन मूल्य गारंटी,क्यों नहीं बन पा रही बात
ये पढ़ा क्या?
X