ताज़ा खबर
 

जियो प्लेटफॉर्म्स में अबु धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी ने किया 5,683 करोड़ रुपये का निवेश

इससे पहले फेसबुक, सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स, जनरल अटलांटिक, केकेआर और मुबाडाला जैसी कंपनियां जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश कर चुकी हैं। फेसबुक ने 22 अप्रैल को जियो प्लेटफार्म्स में 43,574 करोड़ रुपये में 9.99 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी।

Author नई दिल्ली | June 7, 2020 10:33 PM
reliance jioइस सौदे के साथ ही जियो प्लेटफॉर्म्स में 21 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने का लक्ष्य पूरा कर लिया है। (फाइल फोटो)

अबु धाबी निवेश प्राधिकरण (ADIA) ने रिलायंस इंडस्ट्रीज की डिजिटल इकाई जियो प्लेटफॉर्म्स में 1.16 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए 5,683.50 करोड़ रुपये का निवेश किया है। यह पिछले सात सप्ताह से भी कम समय में जियो में आठवां निवेश है। इसके साथ ही 47 दिनों के भीतर जियो में सम्मिलित निवेश एक लाख करोड़ रुपये के करीब पहुंच गया।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने रविवार को एक बयान में कहा कि एआईडीए ने जियो प्लेटफॉर्म्स में 1.16 प्रतिशत हिस्सेदारी के बदले यह निवेश किया है। उसने कहा कि इस सौदे में जियो प्लेटफॉर्म्स का शेयर मूल्यांकन 4.91 लाख करोड़ रुपये और उपक्रम मूल्यांकन 5.16 लाख करोड़ रुपये किया गया। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, ‘‘मुझे खुशी है कि निवेश के चार दशक की सफलता के ट्रैक रिकॉर्ड के साथ एडीआईए जियो प्लेटफॉर्म्स के साथ भागीदारी कर रहा है। वह जियो के मिशन में भागीदार है, जो भारत के लिए डिजिटल लीडरशिप और समावेशी विकास के अवसर पैदा करता है। ’’

एडीआईए में प्राइवेट इक्विटी विभाग के कार्यकारी निदेशक हमाद शाहवान अल्दहेरी ने कहा, ‘‘जियो प्लेटफॉर्म्स भारत की डिजिटल क्रांति में सबसे आगे है। जियो में हमारा निवेश बाजार की अग्रणी कंपनियों में निवेश करने की हमारी गहरी समझ और विशेषज्ञता को प्रदर्शित करता है।’’ रिलायंस इंडस्ट्रीज अब तक कुल मिलाकर जियो प्लेटफॉर्म्स की 21.06 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के सौदे कर चुकी है, जिससे कुल मिलाकर कंपनी को 97,885.65 करोड़ रुपये मिले हैं।

इससे पहले फेसबुक, सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स, जनरल अटलांटिक, केकेआर और मुबाडाला जैसी कंपनियां जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश कर चुकी हैं। फेसबुक ने 22 अप्रैल को जियो प्लेटफार्म्स में 43,574 करोड़ रुपये में 9.99 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी। इस सौदे के कुछ दिनों बाद दुनिया की सबसे बड़ी तकनीकी निवेशक कंपनी सिल्वर लेक ने जियो प्लेटफार्म्स में 5,665.75 करोड़ रुपये में 1.15 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी।

इसके बाद अमेरिका स्थित विस्टा इक्विटी पार्टनर्स ने 8 मई को जियो प्लेटफार्म्स में 11,367 करोड़ रुपये में 2.32 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी। वैश्विक इक्विटी फर्म जनरल अटलांटिक ने 17 मई को कंपनी में 6,598.38 करोड़ रुपये में 1.34 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल की। इसके बाद अमेरिकी इक्विटी निवेशक केकेआर ने 11,367 करोड़ रुपये में 2.32 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी।

पिछले सप्ताह शुक्रवार को अबु धाबी के सावरेन निवेशक मुबाडला और निजी निवेश कंपनी सिल्वर लेक ने भी निवेश किया था। मुबाडला ने जियो प्लेटफॉर्म्स की 1.85 प्रतिशत हिस्सेदारी के बदले 9,093.60 करोड़ रुपये का निवेश किया, जबकि सिल्वरलेक ने जियो प्लेटफॉर्म्स में अतिरिक्त 0.93 प्रतिशत हिस्सेदारी के बदले 4,546.80 करोड़ रुपये का नया निवेश किया। इससे जियो प्लेटफॉर्म्स में सिल्वर लेक द्वारा किया गया कुल निवेश 10,202.55 करोड़ रुपये और कुल हिस्सेदारी 2.08 प्रतिशत हो गयी है।

इस सौदे के साथ ही रिलायंस इंडस्ट्रीज ने संभावित आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) से पहले जियो प्लेटफॉर्म्स में 21 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने का लक्ष्य पूरा कर लिया है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी जियो प्लेटफार्म्स एक प्रौद्योगिकी कंपनी है। रिलायंस जियो इंफोकॉम लिमिटेड, जिसके पास 38.8 करोड़ मोबाइल ग्राहक हैं, वह जियो प्लेटफार्म्स की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी बनी रहेगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सितंबर से घटने लगेंगे कोरोना संक्रमण के मामले, स्वास्थ्य मंत्रालय के रिपोर्ट से सामने आई जानकारी
2 अब दिल्ली के निजी अस्पतालों में बैठेंगे दिल्ली सरकार के स्टाफ, बेड उपलब्ध हैं या नहीं? ऐसी मनमानी पर रखेंगे नजर
3 अगले दो-तीन महीनों में और बढ़ सकता है कोरोना संक्रमण, AIIMS निदेशक ने चेताया
राशिफल
X