ताज़ा खबर
 

Video: रोजगार वाले बयान को लेकर टीवी एंकर ने पूछा सवाल तो नाराज होकर केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने बीच में छोड़ा शो

केंद्रीय मंत्री ने हाल ही में देश में रोजगार की कमी को लेकर गैर जिम्मेदाराना बयान दिया था जिसे लेकर उनकी काफी आलोचना हुई। वहीं विपक्ष ने भीसंतोष गंगवार पर निशाना साधा था।

Author नई दिल्ली | Updated: September 16, 2019 10:05 PM
केंद्रीय श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने कहा कि उनका मंत्रालय स्थिति पर नजर रखे हुए है। (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री ने हाल ही में देश में रोजगार की कमी को लेकर गैर जिम्मेदाराना बयान दिया था जिसे लेकर उनकी काफी आलोचना हुई। वहीं विपक्ष ने भीसंतोष गंगवार पर निशाना साधा था। उनके इस बयान को लेकर एक टीवी शो पर एक सवाल के दौरान गंगवार टीवी एंकर पर बिफर गए और टीवी शो छोड़कर चले गए।

दरअसल टीवी एंकर ने सवाल पूछा कि आपको अपने बयान पर पछतावा है या नहीं? इस सवाल के जवाब पर संतोष गंगवार भड़क गए।  उन्होंने कहा कि आपके  टीवी के चैनल के माध्यम से मैं कहना चाहता हूं कि हम हमेशा सच्चाई के साथ खड़े रहते हैं। उन्होंने कहा कि हमारी जवाबदेही देशवासियों के साथ है और हम देशवासियों को बांटने के काम नहीं करेंगे। जितना हमें दक्षिण से प्यार है उतना ही हमें उत्तर के लोगों से भी प्यार है।

गौरतलब है कि संतोष गंगवार ने शनिवार को बरेली में संवाददाताओं से बातचीत में कहा ‘‘देश में रोजगार की कमी नहीं है लेकिन उत्तर भारत में जो रिक्रूटमेंट करने आते हैं, इस बात का सवाल करते हैं कि जिस पद के लिए हम (कर्मचारी) रख रहे हैं उसकी क्वालिटी का व्यक्ति हमें कम मिलता है।’’ उन्होंने कहा ‘‘आजकल अखबारों में रोजगार की बात आ रही है। हम इसी मंत्रालय को देखने का काम करते हैं और रोज ही इसी का मंथन करने का काम करते है। बात हमारे समझ में आ गयी है। रोजगार दफ्तर के अलावा भी हमारा मंत्रालय इसको मॉनिटर कर रहा है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 11 साल बाद कश्मीर पर फिर से होगी यूरोपीय संसद में बहस, भारत पर क्या होगा प्रभाव?
2 यूपी में पुलिस वालों ने बैलगाड़ी का भी काट दिया चालान, मोटर व्हीकल एक्ट की लगाई धारा, बाद में कैंसल किया
3 तबरेज की पत्नी की धमकी; आरोपियों पर हत्या के मामले वापस लागू किए जाएं, वर्ना कर लूंगी आत्महत्या