ताज़ा खबर
 

आप रोज चैनल बदल देते हैं मगर अतुल अंजान पाला नहीं बदलता, लाइव डिबेट में पैनलिस्ट ने एंकर सुमित अवस्थी से कहा; देखिए रिएक्शन

सर्वे के मुताबिक बंगाल में चुनाव में कांटे की टक्कर है और मुकाबला बीजेपी और टीएमसी के बीच ही है।

cpi, bengalसीपीआई नेता अतुल अंजान की सुमित अवस्थी के साथ बहस हो गई। (फेसबुक)।

एबीपी न्यूज पर डिबेट के दौरान एंकर सुमित अवस्थी ने लेफ्ट नेता अतुल अंजान से कहा कि चुनावी सर्वे में लेफ्ट और कांग्रेस का प्रदर्शन लगातार खराब ही नजर आ रहा है? इसका जवाब देते हुए लेफ्ट नेता ने कहा कि हमारी सीटों की संख्या उतनी होगी जितनी पिछली विधानसभा में थी। पूरी की पूरी केंद्र सरकार बंगाल में चुनाव प्रचार कर रही है। बीजेपी दूसरे राज्यों में और पार्टियों की सरकार गिरा कर अपनी सरकार बनाने में माहिर है। इस पर एंकर ने कहा कि आप कभी किसान नेता हो जाते हैं तो कभी लेफ्ट नेता हो जाते हैं, कभी इस मंच पर कभी उस मंच पर? नेता ने जवाब देते हुए कहा कि आप भी तो कभी आज तक में चले जाते हैं, कभी आप एबीपी न्यूज़ में आ जाते हैं और कभी आप टीवी 9 में चले जाते हैं। मैं छात्र समय से किसानों के बीच सक्रिय रहा हूं।

बता दें कि बंगाल में एबीपी न्यूज़ और सी-वोटर का सर्वे साफ कह रहा है कि टीएमसी की सरकार तीसरी बार बन सकती है। टीएमसी के खाते में 152 से 168 सीटें आ सकती हैं। लगातार 3 सर्वों में टीएमसी ने बीजेपी पर बढ़त को बनाए रखा है। ताजा सर्वे में टीएमसी के खाते में 152 से 168 सीटें आती नजर आ रही है। वहीं बीजेपी के खाते में 104 से लेकर 120 सीटें आ सकती हैं। इसके अलावा लेफ्ट-कांग्रेस गठबंधन को 18 से 26 सीटें मिल सकती हैं। अन्य के खाते में 0 से 2 सीटें आ सकती हैं।

मालूम हो कि इससे पहले जब सी-वोटर ने सर्वे किया था तो 15 मार्च को भी टीएमसी को 150 से 166 सीटें मिलती नजर आ रही थीं। वही उस समय बीजेपी को 98 से 114 सीटें मिल रही थीं और लेफ्ट के खाते में 23 से 31 सीटें आ रही थीं।

27 फरवरी को किए गए सर्वे में टीएमसी को 148 से 164 सीटें मिल रही थीं और बीजेपी के खाते में 92 से 108 सीटें आ रही थी। इसके अलावा लेफ्ट और कांग्रेस के खाते में 31 से 39 सीटें आ रही थीं।

गौरतलब है कि हर सर्वे में बीजेपी का ग्राफ बढ़ रहा है और टीएमसी के ग्राफ में भी मामूली बढ़त है। मोदी की रैली से बीजेपी को फायदा दिख रहा है।

वहीं लेफ्ट-कांग्रेस को नुकसान होता दिख रहा है। चोट कांड से ममता बनर्जी को न ज्यादा फायदा हो रहा है न ही नुकसान हो रहा है। सर्वे के मुताबिक बंगाल में चुनाव में कांटे की टक्कर है और मुकाबला बीजेपी और टीएमसी के बीच ही है।

Next Stories
1 ABP Opinion Poll: असम में BJP-CONG गठबंधन के बीच कांटे की टक्कर, UPA का वोट 10% बढ़ने का अनुमान
2 साड़ी क्यों पहनी बरमूडा पहनो, CM ममता पर दिलीप घोष की विवादित टिप्पणी- पैर साफ दिखेगा
3 मुकुल रॉय की सुरक्षा अपग्रेड, अब Y+ से Z कैटेगरी की सिक्योरिटी में रहेंगे भाजपा नेता
ये पढ़ा क्या?
X