ताज़ा खबर
 

योग दिवस पर ऊँ के उच्चारण पर सिंधवी ने दागा सवाल, BJP बोलीं- माहौल बिगाड़ना चाहती है कांग्रेस

कुणाल कुमार नाम के एक यूजर (@kumarkunal01) ने लिखा कि सिंघवी जी आपने गलत बोल दिया। ऊं के जगह सोनिया और राहुल गांधी का नाम लेने से योग ज्यादा शक्तिशाली हो जाता है।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर दिल्ली में योग करते लोग और कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी (फोटो- PTI और इंडियन एक्सप्रेस)

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर ट्वीट कर कहा है कि ऊँ के उच्चारण से ना तो योग ज्यादा शक्तिशाली हो जाएगा और ना अल्लाह कहने से योग की शक्ति कम होगी। उनके द्वारा किए गए ट्वीट पर ट्विटर यूजर तरह-तरह के कमेंट्स करने लगे।

वहीं भारतीय जनता पार्टी के नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि छुटभैये नेता के ट्वीट से मान्यता खत्म नहीं होगी। बीजेपी के एक अन्य नेता प्रवेश वर्मा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी देश का माहौल बिगाड़ना चाहती है। मोहिल मल्होत्रा नाम के एक ट्विटर यूजर (@TheMohilM) ने लिखा कि ऊं का उच्चारण योग का हिस्सा है पर अल्लाह का यहां पर जिक्र करना आपकी मानसिकता दिखाता है कि आप और आपकी पार्टी धर्म के आधार पर बांटने में कितनी माहिर हैं। मधु नाम के एक यूजर (@Madhu21132975)ने लिखा कि अच्छे भले मुहुर्त को भी इन महाशय की कर्कश कांव-कांव ने जहरीला बना दिया, और वह भी केवल अपने आका की शाबासी पाने के लिए।

नरेंद्र नोदी नाम के एक यूजर (@Narendranodi2) ने लिखा कि अंदरखाने सभी कांग्रेसी राहुल गांधी से खार खाए बैठे हैं। तभी तो जानबूझकर ऐसी उल्टी सीधी टिप्पणी कर कांग्रेस का नुकसान करते हैं ताकि हिन्दू नाराजगी प्रकट करें।

कुणाल कुमार नाम के एक यूजर (@kumarkunal01) ने लिखा कि सिंघवी जी आपने गलत बोल दिया। ऊं के जगह सोनिया और राहुल गांधी का नाम लेने से योग ज्यादा शक्तिशाली हो जाता है। विश्वास नहीं है आपको, तो कर के देखिए कही आप पार्टी का अध्यक्ष भी बन जाएंगे। चाटुकारिता की जय हो।

बताते चलें कि आज पूरे विश्व में सातवां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को कहा कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौरान योग दुनिया के लिए ‘‘उम्मीद की किरण’’ और इस मुश्किल समय में आत्मबल का स्रोत बना रहा।मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के साथ मिलकर भारत ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है और अब दुनिया को ‘एम-योग’ ऐप की शक्ति मिलने जा रही है, जिस पर सामान्य नियमों पर आधारित योग प्रशिक्षण के कई वीडियो दुनिया की अलग-अलग भाषाओं में उपलब्ध होंगे। इससे ‘एक विश्व, एक स्वास्थ्य’ का लक्ष्य पूरा होगा।

Next Stories
1 55 के होकर भी रामदेव हैं स्लिम ट्रिम! बताया राज़- क्यों नहीं चढ़ा आंखों पर चश्मा और झड़े बाल?
2 कोरोनाः पीठ पर मासूम, दोनों कंधों पर बैग और हाथ में चप्पल…रोज 40 किमी चल यूं पेट पाल रहीं हेल्थ वर्कर
3 J&K में LeT आतंकी मुदस्सिर पंडित समेत तीन ढेर, 3 पुलिसवालों व 2 पार्षदों की हत्या में था शामिल
आज का राशिफल
X