ताज़ा खबर
 

कांग्रेस के 2 वरिष्ठ नेताओं ने की मोदी की तारीफ, कहा- PM को खलनायक की तरह पेश करना गलत

मैंने हमेशा कहा है कि मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत है। सिर्फ इसलिए नहीं कि वह देश के प्रधानमंत्री हैं, बल्कि ऐसा करके एक तरह से विपक्ष उनकी मदद करता है।

Author नई दिल्ली | Updated: August 23, 2019 12:48 PM
जयराम की भाषा बोले अभिषेक, कहा- पीएम मोदी को खलनायक कहना गलत pic.. credit- financial expresss

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने अपने सहयोगी जयराम रमेश का समर्थन करते हुए शुक्रवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत है और ऐसा करके विपक्ष एक तरह से उनकी मदद करता है।

सिंघवी ने रमेश के बयान का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ” मैंने हमेशा कहा है कि मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत है। सिर्फ इसलिए नहीं कि वह देश के प्रधानमंत्री हैं, बल्कि ऐसा करके एक तरह से विपक्ष उनकी मदद करता है।

उन्होंने कहा, ”काम हमेशा अच्छा, बुरा या मामूली होता है। काम का मूल्यांकन व्यक्ति नहीं बल्कि मुद्दों के आधार पर होना चाहिए। जैसे उज्ज्वला योजना कुछ अच्छे कामों में से एक है।”

दरअसल, कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने बुधवार को कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासन का मॉडल ”पूरी तरह नकारात्मक गाथा” नहीं है और उनके काम के महत्व को स्वीकार नहीं करके और हर समय उन्हें खलनायक की तरह पेश करके कुछ हासिल नहीं होने वाला है।

रमेश ने एक पुस्तक के विमोचन के मौके पर कहा कि यह वक्त है, जब हम मोदी के काम और 2014 से 2019 के बीच उन्होंने जो किया उसके महत्व को समझे, जिसके कारण वह सत्ता में लौटे। उन्होंने आगें कहा कि, वह अपनी बातों से लोगों को अपने साथ जोड़ते है, तथा उन्होंने वह किये है जो पहले कभी नही हुए है। इसी योजनओं की वजह से 30 प्रतिशत मतदाताओं ने उनकी सत्ता में वापसी करवाई हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 तीन तलाक कानून की समीक्षा करेगा सुप्रीम कोर्ट, केंद्र सरकार को जारी किया नोटिस
2 Reliance Industries: पिता के शुरू किए कारोबार को और बढ़ाने के लिए अपने बच्चों को इस तरह तैयार कर रहे मुकेश अंबानी
3 इन्फोसिस के सह-संस्थापक एन नारायण मूर्ति की मोदी सरकार को नसीहत, बोले- लोकप्रिय नहीं बल्कि एक्सपर्ट आधारित हो आर्थिक नीति