ताज़ा खबर
 

केजरीवाल की पार्टी का यू-टर्न, महाराष्ट्र में आप लड़ेगी विधान सभा चुनाव, बीजेपी-शिवसेना के खिलाफ खोला मोर्चा

आप के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव रूबेन मस्कारेन्हास ने शुक्रवार को दावा किया कि उनकी पार्टी राज्य के ‘‘संकटग्रस्त’’ लोगों को बचाने के लिये इस चुनावी संग्राम में कदम रखेगी। उन्होंने कहा, ‘‘देवेंद्र फडणवीस की सरकार महाराष्ट्र में जबरदस्त तरीके से विफल रही है।

Independence Day 2019, 15 August 2019, Arvind Kejriwal, AAP, Chief Minister, New Delhi, Raksha Bandhan, Advance Gift, Women, Free Journey, DTC, Feeder Buses, Delhi News, State News, Hindi Newsदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (फाइल फोटो)

आम आदमी पार्टी ने कहा है कि पार्टी सितंबर-अक्टूबर में संभावित महाराष्ट्र विधानसभा का चुनाव लड़ेगी क्योंकि राज्य नाकामी और लगातार पतन की दिशा में जा रहा है। आप के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव रूबेन मस्कारेन्हास ने शुक्रवार को दावा किया कि उनकी पार्टी राज्य के ‘‘संकटग्रस्त’’ लोगों को बचाने के लिये इस चुनावी संग्राम में कदम रखेगी। उन्होंने कहा, ‘‘देवेंद्र फडणवीस की सरकार महाराष्ट्र में जबरदस्त तरीके से विफल रही है। कभी प्रगतिशील रहा यह राज्य आज सूखे, बाढ़, किसानों की आत्महत्या, कृषि संकट, बेरोजगारी, नाकाम कानून व्यवस्था से गुजर रहा है।’’ उन्होंने कहा कि राज्य में विपक्षी पार्टियां कमजोर हैं। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र चुनाव के लिये पार्टी की प्रचार समिति में रंगा रचुरे संयोजक, किशोर मंढयन सह संयोजक और धनंजय शिंदे सचिव होंगे। मस्कारेन्हास ने कहा कि पार्टी की वरिष्ठ नेता प्रीति शर्मा मेनन समिति की सदस्य होंगी जो चुनाव की तैयारियों को देखेंगी।

मेनन ने ‘पीटीआई’ से कहा, ‘‘हम जानते हैं कि पूरे महाराष्ट्र में हमारी मजबूत उपस्थिति नहीं है। इसलिए हम सीटों को अंतिम रूप देने पर विचार कर रहे हैं, जिन पर चुनाव लड़ा जायेगा। हमने संभावित उम्मीदवारों से आवेदन मांगे हैं। हम राज्य में 50 से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ने पर विचार कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि पार्टी गठबंधन के लिये तैयार है।इससे पहले पार्टी ने अप्रैल-मई में राज्य में हुए लोकसभा चुनाव में हिस्सा नहीं लिया था।

प्रीति शर्मा मेनन  का कहना है कि हमें यह महसूस हुआ  कि राज्य में बीजेपी और शिवसेना के खिलाफ किसी को मोर्चा खोलना चाहिए। गौरतलब  है कि पार्टी ने लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र से भाग नहीं लिया था। पार्टी का कहना था कि लोकतंत्र बचाने के लिए मोदी- शाह की जोड़ी को हराना  जरूरी है। हालांकि अब पार्टी यू-टर्न लेती नजर आ रही है और लोकसभा चुनाव लड़ने का फैसला लिया है।

(भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories