ताज़ा खबर
 

कनाडा के पीएम के बयान पर ‘आप’ को आपत्ति, देश के आंतरिक मामलों में इसे ‘अनपेक्षित एवं अवांछनीय’ टिप्पणी कहा

प्रवक्ता राघव रड्ढा ने कहा कि 'आप' का मानना है कि अन्य देशों के निर्वाचित प्रमुखों का हस्तक्षेप एवं टिप्पणी गैरजरूरी है। भारत अपने घरेलू मामलों से निपटने में सक्षम है।

Author Edited By Sanjay Dubey नई दिल्ली | December 1, 2020 6:05 PM
कनाडा के पीएम के बयान का विरोधआम आदमी पार्टी के प्रवक्ता राघव चड्ढा।

आम आदमी पार्टी (आप) ने भारत में किसानों के प्रदर्शन को लेकर कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के बयान को मंगलवार को “अनपेक्षित एवं अवांछनीय” करार दिया। आप के प्रवक्ता राघव रड्ढा ने कहा कि ‘आप’ का मानना है कि भारत के आंतरिक मामलों पर अन्य देशों के निर्वाचित प्रमुखों का हस्तक्षेप या टिप्पणी अनपेक्षित एवं अवांछनीय है। चड्ढा ने केंद्र सरकार से अपील की कि वह मामले को तत्काल सुलझाए और किसानों की मांगें स्वीकार करे।

चड्ढा ने ट्वीट किया, “हम भाजपा सरकार से अपील करते हैं कि वह किसानों की मांगें स्वीकार करे और संकट को तत्काल सुलझाए, लेकिन यह भारत का आंतरिक मामला है। ‘आप’ का मानना है कि अन्य देशों के निर्वाचित प्रमुखों का हस्तक्षेप एवं टिप्पणी अनपेक्षित एवं अवांछनीय है। भारत अपने घरेलू मामलों से निपटने में सक्षम है।”

ट्रूडो विवादास्पद कृषि कानूनों के खिलाफ जारी प्रदर्शनों पर टिप्पणी करने वाले पहले अंतरराष्ट्रीय नेता हैं। ट्रूडो ने नये कृषि कानूनों के खिलाफ भारत में चल रहे किसानों के विरोध प्रदर्शन को लेकर चिंता जताई है। ट्रूडो ने गुरु नानक देव जी की 551वीं जयंती के मौके पर एक ऑनलाइन कार्यक्रम के दौरान कनाडा में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि यदि वह “किसानों द्वारा विरोध प्रदर्शन के बारे में भारत से आने वाली खबरों” को नजरअंदाज करते हैं तो वह कुछ चूक करेंगे।

नये कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन मंगलवार को लगातार छठे दिन भी जारी है। ट्रूडो ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किए गए वीडियो में कहा, “हालात बेहद चिंताजनक हैं और हम परिवार तथा दोस्तों को लेकर परेशान हैं। हमें पता है कि यह कई लोगों के लिए सच्चाई है।”

उन्होंने कहा, “आपको याद दिला दूं कि शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन के अधिकार की रक्षा के लिए कनाडा हमेशा खड़ा रहेगा। हम बातचीत में विश्वास करते हैं। हमने भारतीय अधिकारियों के सामने अपनी चिंताएं रखी हैं।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नवंबर में जीएसटी संग्रह 1.04 लाख करोड़ रुपये रहा, अक्ट्रबर की तुलना में मामूली गिरावट
2 विवादों में फिर शेहला रशीद: पिता ने बताया एंटी-नेशनल, तो कहा- परिवार से उनका नाता नहीं, वो लालची किस्म के इंसान
3 COVID-19 मरीजों से हो रहा अछूतों जैसा सलूक- मकानों पर पोस्टर लगने को लेकर बोला कोर्ट
ये पढ़ा क्या?
X