ताज़ा खबर
 

दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा: सिर पर गठरी, हाथों में चिट्ठी का बंडल ले आप विधायक पीएम हाउस कूच

आप ने 3 जुलाई से लेकर 15 अगस्त 2018 तक पूरे दिल्ली में हस्ताक्षर अभियान चलाया था। पार्टी ने दावा किया कि इस दौरान करीब 10 लाख लोगों ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग पत्र पर हस्ताक्षर किया है।

दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने की मांग वाली चिट्ठी लेकर पीएम हाउस जाते आप विधायक। (फोटो-ट्विटर)

आम आदमी पार्टी (आप) ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के लिए फिर से आंदोलन छेड़ दिया है। सोमवार (27 अगस्त) को पार्टी के विधायकों ने इस मुद्दे पर आम जनता के हस्ताक्षरों का बंडल और गठरी लेकर सीएम अरविंद केजरीवाल के निवास से प्रधानमंत्री निवास के लिए कूच किया। आप ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें साफ दिख रहा है कि पार्टी के विधायक हाथों में बंडल लेकर पीएम हाउस की तरफ रवाना हो रहे हैं। आप विधायक अलका लांबा भीड़ में आगे चल रही हैं। पार्टी के प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने पीएम को एक पत्र भी लिखा है जिसमें कहा गया है, “आदरणीय प्रधानमंत्री महोदय, दिल्ली के लोगों की दशकों से मांग रही है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिले। इसी संदर्भ में दिल्ली के 10 लाख लोगों ने आप को पत्र लिखकर आप से दिल्ली को पूर्ण राज्य दिलाने की अपील की है।” राय ने लिखा है कि उन्हीं चिट्ठियों का बंडल देने के लिए हम आपसे मिलने आ रहे हैं। राय ने लिखा है कि दिल्ली की जनता चाहती है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिले, इसलिए आपसे अनुरोध है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाएं।

बता दें कि आप ने पिछले महीने 3 जुलाई से लेकर इस महीने की 15 अगस्त 2018 तक पूरे दिल्ली में हस्ताक्षर अभियान चलाया था। पहले यह अभियान 25 जुलाई 2018 तक तय की गई थी लेकिन उसे बढ़ाकर स्वतंत्रता दिवस तक कर दिया गया था। पार्टी ने दावा किया कि इस दौरान करीब 10 लाख लोगों ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग पत्र पर हस्ताक्षर किया है। दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने का आप ने चुनावी वादा किया था। साल 2015 में दोबारा सत्ता में आने पर आप ने एलान किया था कि इस मुद्दे पर जनमत संग्रह कराया जाएगा। आप ने इसके लिए विधानसभा के विशेष सत्र में चर्चा कराकर प्रस्ताव भी पास कराया था। इससे पहले साल 2016 में आप सरकार ने पूर्ण राज्य का ड्राफ्ट बिल जनता के पास रखा था जिसे 2018 में पास कराया गया।

जिन चिट्ठियों का बंडल पीएम निवास तक भेजा जा रहा है, उनमें लोगों ने लिखा है, “प्रधानमंत्री जी, 2014 के लोकसभा चुनाव में आपने दिल्ली वालों को वादा किया था कि यदि आप प्रधानमंत्री बनते हैं तो दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाएंगे। हमलोगों ने आपकी बात पर यकीन किया और दिल्ली में आपको सातों सीटों पर जीत दिलवाई। कृपया बताएं कि आप कब तक दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलवाएंगे?” बता दें कि साल 2014 से पहले केंद्र की सत्ता में आने से पहले तक बीजेपी भी दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग करती रही है लेकिन अब बीजेपी ने उस पर चुप्पी साध रखी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App