ताज़ा खबर
 

राजधानी में दंगा भड़काने वाले APP विधायक हुए गिरफ्तार

दिल्ली की मॉडल टाउन विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी के विधायक अखिलेश त्रिपाठी को रोहिणी कोर्ट ने दो दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। उन्हें पुलिस ने दंगा भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आम आदमी पार्टी के अब तककुल पांच विधायक विभिन्न मामलों में जेल जा चुके हैं। त्रिपाठी […]

Author नई दिल्ली | November 27, 2015 12:43 AM

दिल्ली की मॉडल टाउन विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी के विधायक अखिलेश त्रिपाठी को रोहिणी कोर्ट ने दो दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। उन्हें पुलिस ने दंगा भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आम आदमी पार्टी के अब तककुल पांच विधायक विभिन्न मामलों में जेल जा चुके हैं। त्रिपाठी से पहले आप के चार विधायक जितेंद्र तोमर (त्रिनगर के विधायक), सोमनाथ भारती (मालवीय नगर के विधायक), मनोज कुमार (कोंडली के विधायक), कमांडो सुरेंद्र सिंह (दिल्ली छावनी से विधायक) जेल जा चुके हैं। इन विधायकों को अलग-अलग मामलों में जेल भेजा गया है। इन विधायकों पर फर्जी डिग्री, घरेलू हिंसा, धोखाधड़ी, सरकारी अधिकारी से मारपीट जैसे मामले दर्ज हैं।

अखिलेश त्रिपाठी को जेल भेजने का आदेश अदालत ने 2013 में दंगे के एक मामले में पेश नहीं होने पर दिया है। अदालत उन्हें बार-बार पेश होने के लिए कह रही थी, लेकिन वे नहीं हाजिर हो पाए। नाफरमानी करने पर अदालत ने अब सख्त आदेश दिया है। त्रिपाठी पर आरोप है कि 2013 में दंगा भड़काने में उनकी अहम भूमिका रही। अदालत की ओर इस मामले में कई बार नोटिस जारी किया गया था। लेकिन वे पेश नहीं हुए थे।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64GB Black
    ₹ 16999 MRP ₹ 17999 -6%
    ₹0 Cashback
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 15590 MRP ₹ 17990 -13%
    ₹0 Cashback

अखिलेश त्रिपाठी अपने समर्थकों के साथ फरवरी 2013 को बुराडी थाने में बंद दो युवकों को छुड़ाने गए थे। पुलिस ने इन्हें अपहरण के आरोप में बंद कर रखा था। जबकि त्रिपाठी की अगुवाई में जुटी भीड़ का दावा था कि पुलिस उन युवकों को गलत तरीके से फंसा रही है। भीड़ वहां उग्र हो गई और थाने पर पथराव किया। इस मामले में पुलिस ने त्रिपाठी पर भीड़ को हिंसा के लिए उकसाने, मारपीट करने और थाने पर पथराव करने का मामला दर्ज किया।

त्रिपाठी के अलावा राहुल कुमार , विकास मंडल , इंद्र विक्रम सिंह और कन्हैया कुमार झा के खिलाफ भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 147 (दंगे के लिए सजा) ,148 (हथियारों के साथ दंगा करना),149 (अवैध रूप से एकत्र होना), 323 (साधारण चोट पहुंचाना) और 506 (आपराधिक तौर पर धमकाना) के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। पुलिस उपायुक्त विजय सिंह ने बताया कि अदालत के आदेश के अनुसार विधायक को गिरफ्तार कर लिया गया है। इतना हीं नहीं इस मामले में विधायक के अलावा सैकड़ों अज्ञात लोगों के खिलाफ दंगा करने, मारपीट, तोड़फोड़ और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की धाराओं में केस दर्ज किया हुआ है। इस साल भी त्रिपाठी के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज हुआ था। हालांकि, इस मामले में उन्हें जमानत मिल गई थी।

इस मामले में अदालत के समक्ष हाजिर नहीं होने के कारण विधायक के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया था। पुलिस ने उन्हें अदालत में पेश किया और अदालत ने उन्हें आगामी 28 नवंबर तकके लिए जेल भेज दिया। मेट्रोपालिटन मजिस्ट्रेट कपिल कुमार ने आदेश दिया कि 2013 के दंगे के एक मामले में आरोपी विधायक को अदालत के उसके सामने पेश होने के आदेश का अनुपालन नहीं करने के चलते हिरासत में लिया जाए। इससे पहले अदालत ने माडल टाउन के विधायक के खिलाफ एक गैर जमानती वारंट जारी किया था। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस माह के शुरू में गृह मंत्री से शिकायत की थी कि दिल्ली पुलिस उनके विधायकों के पुराने मामले फिर से खोल रही है और उनके खिलाफ नए मामले दायर कर रही है ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App