ताज़ा खबर
 

पानी के टैंकर ले किसानों के बीच पहुंच गए AAP नेता सिसोदिया और राघव चड्ढा, पुलिस से हो गई बहस

आज आम आदमी पार्टी के नेता सत्येंद्र जैन और राघव चड्ढा को सिंघू बॉर्डर पर पुलिस ने रोका। इस दौरान नेताओं की पुलिस से बहस हो गई।

AAP नेता राघव चड्ढा की पुलिस से बहस हो गई। (Twitter)

आज आम आदमी पार्टी के नेता सत्येंद्र जैन और राघव चड्ढा को सिंघू बॉर्डर पर पुलिस ने रोका। इस दौरान नेताओं की पुलिस से बहस हो गई। नेता किसानों के लिए पानी का टैंकर लेकर पहुंचे थे। इस दौरान राघव चड्ढा ने कहा, ‘दुश्मन नहीं है देश का किसान है पाकिस्तान से नहीं आए हैं। पानी तो पिलाएंगे ही। जो आपको अन्न खिलाता है उसको पानी पिला रहे हैं। जो आपकी हमारी थाली में अन्न डालने का काम करता है उसको पानी पिलाने आए हैं।’ राघव चड्ढा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि देश का किसान आंतकवादी नहीं है, वो अन्नदाता है। आज भाजपा सरकार उस अन्नदाता तक पानी, लंगर और शौचालय की सुविधा पहुँचाने नहीं दे रही है।

वहीं, आज दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने राकेश टिकैत से मुलाकात भी की। जिसके बाद किसान नेता राकेश टिकैत ने किसानों की मदद करने के लिए केजरीवाल सरकार को शुक्रिया कहा। सीएम केजरीवाल ने ट्वीट किया, ”राकेश जी, हम पूरी तरह से किसानों के साथ हैं। आपकी माँगे वाजिब हैं। किसानों के आंदोलन को बदनाम करना, किसानों को देशद्रोही कहना और इतने दिनों से शांति से आंदोलन कर रहे किसान नेताओं पर झूठे केस करना सरासर ग़लत है।”

बता दें कि कल रात भर गाजीपुर बॉर्डर के पास किसानों और पुलिस के बीच तनाव की स्थिति देखने को मिली। पहले तो पुलिस किसानों को धरना स्थल से खदेड़ने की सोच रही थी। हालांकि बाद में किसान नेता राकेश टिकैत के रोने का वीडियो देख बड़ी संख्या में गाजीपुर बॉर्डर पर जा पहुंचे।

कल किसान नेता राकेश टिकैत ने मीडिया के सामने कहा था कि वे इस आंदोलन के लिए गोलियों का सामना करने को तैयार हैं। सरकार ने कानून वापिस नहीं किए तो वे आत्महत्या कर लेंगे। किसानों ने मामले में महापंचायत भी बुलाई है।


कल हरियाणा और उत्तर प्रदेश प्रशासन ने किसानों को धरना स्थल से हटाने की सोची थी। कल बड़ी संख्या में पुलिस बल गाजीपुर सीमा पर तैनात किया गया था। साफ था कि पुलिस किसानों को धरना स्थल से हटाना चाहती थी। जब लग रहा था कि पुलिस किसानों को खदेड़ने वाली है। राकेश टिकैत ने साफ किया कि वे जगह खाली नहीं करेंगे।

राकेश टिकैत ने मीडिया से कहा, “वे किसानों को बर्बाद करना चाहते हैं।हम ये होने नहीं देंगे। या,तो कानून वापिस होंगे या फिर टिकैत आत्महत्या कर लेगा। ये किसानों के खिलाफ एक साजिश है…”

ये वीडियो वायरल होने के बाद किसान राकेश टिकैत की बुलाई महापंचायत में शामिल होने के लिए किसान वापिस गाजीपुर सीमा पर लौटे।

Next Stories
1 ‘सिंघु बॉर्डर खाली करो’ की नारेबाजी के बीच किसानों और स्थानीय लोगों में झड़प और पत्थरबाजी, पुलिस ने छोड़े आंसू गैस के गोल
2 Kerala Nirmal Lottery NR-209 Result: केरल लॉटरी का रिजल्ट जारी, 70 लाख रुपए का पहला इनाम लगा इस टिकट नंबर को
3 बजट सत्र अभिभाषणः राष्ट्रपति बोले- गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा दुर्भाग्यपूर्ण, शांतिपूर्ण आंदोलन का सम्मान
ये पढ़ा क्या?
X