ताज़ा खबर
 

AAP सांसद ने जोकर से कर डाली नरेंद्र मोदी की तुलना, बोले- पीएम भूल गए कि वह संसद में हैं, सर्कस में नहीं

संजय सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री भूल गए कि वो संसद में हैं या सर्कस में, वो ये भी भूल गए कि वो भारत के प्रधानमंत्री हैं जोकर नहीं, देखिए पीएम का आचरण।

आप नेता संजय सिंह। (express photo by amit mehra)

शुक्रवार को संसद में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान जमकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर चला। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जहां पीएम मोदी और भाजपा को निशाने पर लिया, वहीं बाद में पीएम मोदी ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा। अपने भाषण के दौरान पीएम मोदी ने राहुल गांधी के आंख मारने की नकल उतारते हुए अपने हाथों से कुछ इशारा किया था। अब आज उस इशारे के एक वीडियो को रिट्वीट करते हुए आप नेता संजय सिंह ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है।

संजय सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री भूल गए कि वो संसद में हैं या सर्कस में, वो ये भी भूल गए कि वो भारत के प्रधानमंत्री हैं जोकर नहीं, देखिए पीएम का आचरण। इससे पहले शुक्रवार को भी संजय सिंह ने राहुल गांधी के पीएम मोदी से गले मिलने पर ट्वीट कर पीएम मोदी और भाजपा को निशाने पर लिया था। संजय गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा था कि लोकतंत्र के सबसे बड़े मंदिर में जनता की नीतियों को लेकर विरोध होना चाहिए, व्यक्तिगत विरोध नहीं। लेकिन भाजपा को गले मिलना नहीं गाली देना पसंद है। भाजपाई मानसिकता लोकतंत्र के स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं है। एक अन्य ट्वीट में भी संजय सिंह ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है। इस ट्वीट में पीएम मोदी किसी अरब देश के राजनेता के स्वागत में खड़े हैं। इस तस्वीर के साथ संजय सिंह ने कैप्शन लिखा है कि “गले मिलने को बेताब मोदी जी।”

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को सरकार के खिलाफ संसद में पेश हुआ अविश्वास प्रस्ताव काफी हंगामेदार रहा। पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने भाषण में पीएम मोदी और भाजपा को निशाने पर लिया। राहुल गांधी ने पीएम मोदी को रोजगार, राफेल डील, नोटबंदी और मॉब लिंचिंग जैसे मुद्दों पर घेरा। इसके बाद पीएम मोदी ने अपने जवाब में राहुल गांधी को तीखे जवाब दिए। बता दें कि राहुल गांधी ने अपने भाषण के दौरान पीएम मोदी को उनकी आँख में आँख डालकर देखने की चुनौती दी थी। जिस पर पीएम मोदी ने अपने भाषण में खुद को गरीब मां का बेटा बताकर कहा था उनकी हैसियत नहीं है कि वह राहुल गांधी की आंख में आंख डालकर देख सकें। बहरहाल आरोप-प्रत्यारोप के दौर के बीच भाजपा संसद में बहुमत सिद्ध करने में सफल रही थी, जिसकी पहले से ही उम्मीद थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App