AAP नेता राघव चड्ढा ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह को भेजा 2.50 रुपए का डिमांड ड्राफ्ट

अपनी चिट्ठी में राघव ने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए लिखा कि मैं इस ढाई रुपए की रकम का डिमांड ड्राफ्ट अपने ख़त के साथ गृह मंत्रालय को भेज रहा हूं, ताकि मोदी सरकार का यह अहसान उतार सकूं।

Raghav Chadha, Raghav Chadha Statement, Raghav Chadha blames, Election Commission, Election Commission Blame, Khap Panchayat, Decides Without Argument, Election Commission Has Become, National news
राघव चड्ढा। (File Photo)

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार में नियुक्त 9 सलाहकारों को उप राज्यपाल ने कुछ ही दिनों पहले उनके पद से हटा दिया। इस कार्रवाई के बाद आम आदमी पार्टी के नेताओं ने अब सीधे गृह मंत्रालय पर निशाना साधना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में आम आदमी पार्टी के नेता राघव चड्डा ने अपना ढाई रुपए का मेहनताना गृह मंत्रालय को वापस कर दिया है। राघव चड्डा ने मंत्रालय को ढाई रुपए का एक डिमांड ड्राफ्ट भेजा है। अपने डिमांड ड्राफ्ट के साथ राघव चड्डा ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह को एक चिट्ठी भी लिखी है।

‘आप’ के प्रवक्ता राघव चड्डा ने अपनी चिट्ठी में लिखा, “मैं एक चार्टर्ड अकाउंटेंट के तौर पर काम करता हूं और मैंने 75 दिन सरकार के लिए काम किया था। इस दौरान मैंने बजट बनाने में सरकार की मदद की और इस काम के लिए मुझे सरकार की तरफ से ढाई रुपए का मेहनताना मिला था।” अपनी चिट्ठी में राघव ने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए आगे लिखा, “मैं इस ढाई रुपए की रकम का डिमांड ड्राफ्ट अपने ख़त के साथ गृह मंत्रालय को भेज रहा हूं, ताकि मोदी सरकार का यह अहसान उतार सकूं।”

राघव चड्डा ने अपने पत्र में मध्य प्रदेश में साधुओं को मंत्री बनाए जाने का भी जिक्र करते हुए लिखा कि साधु-बाबा को मंत्री के तौर पर नियुक्त करना और सभी को मोटी रकम, घर, गाड़ी आदि देना भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की नजर में सही है, लेकिन बीजेपी के मुताबिक शिक्षाविद् आतिशी मर्लिना जैसे लोगों को काम करने का कोई हक नहीं है।

आपको बता दें कि राघव चड्डा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के काफी करीबी माने जाते हैं। दिल्ली सरकार ने राघव चड्डा समेत 9 सलाहकारों की नियुक्ति की थी। ये सलाहकार बजट और शिक्षा जैसे कई दूसरे अहम मुद्दों पर सरकार को सलाह देने का काम करते थे। लेकिन गृह मंत्रालय की सिफारिश के बाद उप राज्यपाल ने सभी 9 सलाहकारों को उनके पद से हटा दिया था।

गृह मंत्रालय का कहना है कि इन नियुक्तियों से पहले मंत्रालय से सलाह नहीं ली गई थी। जिन सलाहकारों को उनके पद से हटाया गया, उनमें राघव चड्डा, आतिशी मर्लेना, अरुणोदय प्रकाश, अमरदीप तिवारी, राम कुमार झा, प्रशांत सक्सेना, समीर मल्होत्रा, दिनकर और अदीब शामिल हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

X