AAP, Arvind Kejriwal, Rajesh Garg, AAP Latest News, Delhi - Jansatta
ताज़ा खबर
 

गर्ग का दावा: केजरीवाल की सहमति से ही की गई करोड़ों रूपए देने की पेशकश की कॉल

आम आदमी पार्टी के पूर्व विधायक राजेश गर्ग ने आज आरोप लगाया कि भाजपा को समर्थन के बदले उन्हें और कई अन्य नेताओं को करोड़ों रूपये देने की पेशकश करने वाली फोन कॉल अरविन्द केजरीवाल की ‘‘सहमति’’ से की गई थीं । गर्ग को हाल में पार्टी से निलंबित कर दिया गया था । उन्होंने […]

Author March 31, 2015 3:19 PM
गर्ग को हाल में आप पार्टी से निलंबित कर दिया गया था।

आम आदमी पार्टी के पूर्व विधायक राजेश गर्ग ने आज आरोप लगाया कि भाजपा को समर्थन के बदले उन्हें और कई अन्य नेताओं को करोड़ों रूपये देने की पेशकश करने वाली फोन कॉल अरविन्द केजरीवाल की ‘‘सहमति’’ से की गई थीं ।

गर्ग को हाल में पार्टी से निलंबित कर दिया गया था । उन्होंने दावा किया कि उन्हें केंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली के कार्यालय से 10 करोड़ रूपये देने की पेशकश करने वाली फर्जी कॉल की उनकी शिकायत पर पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया था, जिसे बाद में आप के हस्तक्षेप से छोड़ दिया गया ।

उन्होंने कहा, ‘‘सरकार गठन के प्रारंभिक चरण में मुझे किसी ने फोन किया जिसने दावा किया कि वह अरूण जेटली के कार्यालय से बोल रहा है और उसने भाजपा को समर्थन के लिए 10 करोड़ रूपये देने की पेशकश की ।’’

गर्ग ने कहा, ‘‘इस पर मैंने पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी जिसने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया । तब मुझे संजय सिंह का फोन आया कि अपनी शिकायत वापस ले लो । मैंने शिाकयत वापस नहीं ली, लेकिन वे उसे रिहा कराने में सफल हो गए ।’’

रोहिणी से पूर्व विधायक रहे गर्ग ने दावा किया कि उस समय की गईं सभी कॉल पार्टी प्रमुख केजरीवाल की ‘‘सहमति से निजी और अज्ञात नंबरों’’ से आई थीं ।

गर्ग ने कहा कि आप के कई अन्य विधायकों ने पार्टी विधायकों की एक बैठक में जेटली और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के कार्यालय से फर्जी कॉल्स का मुद्दा उठाया था ।

उन्होंने हाल में आरोप लगाया था कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने पिछले साल दिल्ली में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस के छह विधायकों को तोड़ने की कोशिश की थी । इसके बाद 16 मार्च को उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया गया था ।

गर्ग ने केजरीवाल के साथ फोन पर हुई बातचीत को रिकॉर्ड कर लिया था, जो बाद में सामने आ गई और मीडिया में फैल गई ।

पिछले साल अक्तूबर में उन्होंने केजरीवाल से पार्टी में आतंरिक लोकतंत्र के बारे में सवाल किया था और यह भी जानना चाहा था कि क्या उन्होंने दिल्ली में नए सिरे से चुनाव कराने को लेकर लोगों से विचार विमर्श किया था ।

 

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App