ताज़ा खबर
 

आज से शुरू होगी ‘आप’ की परीक्षा

आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल शनिवार को ऐतिहासिक रामलीला मैदान में दिल्ली के आठवें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। केंद्रीय कैबिनेट ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप की शानदार जीत के बाद राष्ट्रीय राजधानी से राष्ट्रपति शासन हटाने की शुक्रवार को सिफारिश कर दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक […]

Author February 14, 2015 9:04 AM
दिल्‍ली के रामलीला मैदान में आज मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे अरविंद केजरीवाल

आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल शनिवार को ऐतिहासिक रामलीला मैदान में दिल्ली के आठवें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। केंद्रीय कैबिनेट ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप की शानदार जीत के बाद राष्ट्रीय राजधानी से राष्ट्रपति शासन हटाने की शुक्रवार को सिफारिश कर दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में कैबिनेट ने तुरंत राष्ट्रपति शासन हटाने की सिफारिश की ताकि नई सरकार के गठन का रास्ता साफ हो सके। इसके साथ ही शुक्रवार को राष्ट्रपति ने केजरीवाल को दिल्ली का मुख्यमंत्री नियुक्त किया।

निर्वाचन आयोग के 70 सदस्यीय विधानसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों की सूची अधिसूचित किए जाने के बाद कैबिनेट का यह फैसला आया है। पिछले साल अरविंद केजरीवाल के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिए जाने और राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के उनके इस्तीफे को स्वीकार किए जाने के बाद 17 फरवरी को दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाया गया था।


दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद अरविंद केजरीवाल गृह, बिजली और वित्त जैसे महत्वपूर्ण विभाग अपने पास रखेंगे जबकि शिक्षा, पीडब्लूडी और शहरी विकास मंत्रालय अपने विश्वस्त मनीष सिसोदिया को देंगे। पार्टी सूत्रों ने शुक्रवार को कहा कि केजरीवाल और सिसोदिया जिन विभागों को देखेंगे वहां केंद्र से सीधे संपर्क की जरूरत होगी ।

आप नए स्कूल व कालेज बनाकर अपने शैक्षणिक एजंडे को भी लागू करने की योजना बना रही है। इसलिए इसे सिसोदिया जैसे वरिष्ठ मंत्री को दिया जाएगा। सूत्रों ने कहा कि सत्येंद्र जैन पहले आप के शासन में स्वास्थ्य एवं उद्योग मंत्री थे और इस बार भी यही मंत्रालय उनके पास होगा। स्वास्थ्य मंत्री के तौर पर अपने पहले कार्यकाल में उन्होंने सरकारी अस्पतालों में नि:शुल्क दवाएं तय की थीं। सिसोदिया के अलावा वे एकमात्र मंत्री हैं जो पिछली सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं। पार्टी के वरिष्ठ मंत्री और राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) के सदस्य गोपाल राय अगले परिवहन और श्रम मंत्री होंगे।

arvind kejriwal, arvind kejriwal swearing in, aap delhi, arvind kejriwal cm, aap, india news, kejriwal cm केजरीवाल के साथ छह मंत्री आज लेंगे शपथ, वीआईपी सुविधा लेने पर संशय बरकरार (फोटो: रवि कनोजिया)

 

पेशे से वकील संदीप कुमार महिला व बाल कल्याण विभाग और एससी एसटी कल्याण विभाग संभाल सकते हैं जबकि एक अन्य वकील जितेंद्र तोमर कानून विभाग संभालेंगे। आसिम अहमद खान को खाद्य व नागरिक आपूर्ति मंत्रालय और अल्पसंख्यक मामलों का मंत्रालय सौंपा जा सकता है। राय, कुमार, तोमर और खान पहली बार विधायक बने हैं। सूत्रों ने बताया कि केजरीवाल को जिस तरह का जनादेश मिला है उसके तहत अच्छा प्रदर्शन नहीं करने वाले मंत्रियों को हटाकर नए चेहरों को एक साल के अंदर मौका देने का अवसर उनके पास होगा। आप के सूत्रों ने बताया कि शाहदरा के विधायक रामनिवास गोयल विधानसभा के स्पीकर हो सकते हैं जबकि शालीमार बाग विधानसभा क्षेत्र की बंदना कुमारी उप स्पीकर होंगी। 46 वर्षीय केजरीवाल एक रेडियो संदेश के जरिए पहले ही दिल्ली के लोगों को अपने शपथ ग्रहण समारोह के लिए रामलीला मैदान आने का निमंत्रण दे चुके हैं। यह वही रामलीला मैदान है, जो तीन साल पहले भ्रष्टाचार रोधी अभियान का प्रमुख प्रदर्शनस्थल बना था।

दो दिन पहले से ही शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां शुरू कर चुके उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने शुक्रवार को मध्य दिल्ली में स्थित इस आयोजनस्थल पर तैयारियों को अंतिम रूप दिया। नगर निगम के अधिकारियों ने कहा कि आयोजन की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। दिल्ली पुलिस के लगभग 1200 जवान आयोजन स्थल पर पैनी नजर रखेंगे। रामलीला मैदान में भारी भीड़ जुटने का अनुमान है। सुरक्षा शाखा मंच की सुरक्षा की जिम्मेदारी देखेगी, जहां दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग केजरीवाल और पांच अन्य मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे। शपथ के बाद केजरीवाल सरकार के लिए अपनी प्राथमिकताओं का जिक्र कर सकते हैं।

फोटो में: अरविंद केजरीवाल कैसे मनाएंगे VALENTINE’S DAY? 

वे आप के 70 सूत्री चुनावी घोषणापत्र को कार्यान्वित करने की रूपरेखा तैयार करने के लिए पहले ही प्रमुख सचिव डीएम सपोलिया से कह चुके हैं। सरकार में मौजूद सूत्रों ने कहा कि प्रमुख सचिव सपोलिया ने सभी विभागों को निर्देश दिए हैं कि वे आप के 70 सूत्रीय घोषणापत्र को कार्यान्वित करने के लिए अलग-अलग मसविदा तैयार करें। वे नए मुख्यमंत्री के समक्ष विशेष प्रस्तुतिकरण देने की तैयारी कर रहे हैं।

आप के घोषणापत्र में बिजली की दरों में 50 फीसद कटौती, शहर में मुफ्त वाई-फाई की सुविधा, 10-15 लाख सीसीटीवी कैमरे लगाना, दिल्ली में दो लाख सार्वजनिक शौचालय बनाना, 20 नए कालेज बनाना और निजी स्कूलों में फीस का नियमन करना शामिल है। घोषणापत्र में दिल्ली के अस्पतालों में 30 हजार अतिरिक्त बिस्तर का भी वादा किया गया है। इसके साथ ही अगले पांच साल में आठ लाख नए रोजगारों के सृजन की भी बात कही गई है। पिछले महीने घोषणापत्र जारी करते हुए केजरीवाल ने घोषणा की थी कि आप सरकार बिजली की दरों में 50 फीसद की कटौती करेगी और निजी बिजली वितरण कंपनियों का पूरा आॅडिट करवाएगी। इसके आधार पर बिजली दरों में बदलाव किया जाएगा।

केजरीवाल ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत की थी और उन्हें अपने शपथ ग्रहण समारोह का निमंत्रण दिया था। लेकिन महाराष्ट्र में पहले से ही किसी कार्यक्रम में शिरकत की योजना होने के कारण प्रधानमंत्री ने इस समारोह में आने से असमर्थता जताई थी। आप नेता ने बुधवार को गृह मंत्री राजनाथ सिंह और शहरी विकास मंत्री एम वेंकैया नायडू को भी अलग-अलग मुलाकातों के दौरान शपथ-ग्रहण समारोह में आने का निमंत्रण दिया था। दिल्ली के सातों सांसदों को भी इस समारोह में आमंत्रित किया गया है।

वैसे केजरीवाल को शनिवार को पद की शपथ लेनी है और उनका स्वास्थ्य अभी ठीक नहीं है। आप के एक नेता ने कहा कि उन्हें पिछले चार दिन से बुखार है। गुरुवार को भी जब वे वापस आए तो उनके लिए बैठना मुश्किल हो रहा था। इसलिए उन्हें सभी तय बैठकें रद्द करनी पड़ीं। मतगणना वाले दिन उन्हें बीच में ही जश्न से उठना पड़ा और आराम करने के लिए कौशांबी स्थित अपने आवास जाना पड़ा था।

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App