ताज़ा खबर
 

टीका कब आएगा, नरेंद्र मोदी ने नहीं बताया- गौरव वल्लभ बोले तो एंकर ने पूछा- आपको पता है क्या?

डिबेट शो में गौरव वल्लभ ने पीएम मोदी के भाषण पर तंज कसते हुए कहा कि उन्होंने भारत में कोरोना की स्थिति की अमेरिका, जर्मनी, फ्रांस, ब्रिटेन से तुलना की। मगर इन देशों में टेस्टिंग की संख्या भारत से करीब पांच गुना ज्यादा है।

PM Modi Speech Today, national newsकांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव वल्लभ। (वीडियो स्क्रीनशॉट)

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने राष्ट्र के नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि संबोधन में पीएम मोदी ने ये नहीं बताया कि टीका कब आएगा। कांग्रेस प्रवक्ता ने टीवी चैनल आजतक के डिबेट शो ‘हल्ला बोल’ में ये बात कही। हालांकि उनके इस सवाल पर एंकर ने पूछा लिया कि वो ही बता दें कि वैक्सीन कब आएगी। दरअसल डिबेट का संचालन कर रहे रोहित सरदाता ने उनपर तंज कसते हुए पूछा था कि राहुल गांधी चीन की तारीख पूछ रहे थे मगर पीएम ने सिर्फ कोरोना पर बात की।

जवाब में कांग्रेस प्रवक्ता ने पीएम द्वारा संत कबीर दास के दोहे का जिक्र किया। बकौल गौरव वल्लभ कबीर दास के दोहे ‘कहत सुनत सब दिन गए, उरझि न सुरझ्या मन, कही कबीर चेत्या नहीं, अजहूं सो पहला दिन’ मतलब कहने सुनने में सब दिन चले गए। हमारा मन अभी तक नहीं सुलझा। आज भी हम वहीं खड़े थे जिस दिन हमने लॉकडाउन लगाया था।

PM Modi Speech Today Live Updates

गौरव वल्लभ ने पीएम मोदी के भाषण पर तंज कसते हुए कहा कि उन्होंने भारत में कोरोना की स्थिति की अमेरिका, जर्मनी, फ्रांस, ब्रिटेन से तुलना की। मगर इन देशों में टेस्टिंग की संख्या भारत से करीब पांच गुना ज्यादा है। पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, अफगानिस्तान, मलेशिया, श्रीलंका जैसे देशों में कोरोना के कारण हुई मौतें भारत से एक चौथाई से भी कम है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि पीएम मोदी कोरोना काल में खत्म हुई नौकरियों पर बात नहीं की। उन्होंने देश को ये नहीं बताया कि भारत में कोरोना का टीका कब आएगा। भारत में आज हर कोई यही पूछ रहा है कि इस बीमारी से कब छुटकारा मिलेगा। कोरोना का टीका कब आएगा।

इसी बीच न्यूज एंकर रोहित सरदाना ने कांग्रेस प्रवक्ता को बीच में रोकते हुए पूछा कि वो ही बता दें कि टीका कब आएगा। सरदाना ने पूछा, ‘आपको पता है कोरोना का टीका कब आएगा?’ गौरव वल्लभ ने कहा कि अगर वो पीएम के पद होते और वैक्सीन की जानकारी नहीं होते तो इवेंट बनाने के लिए राष्ट्र के नाम संदेश नहीं देते।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लोस चुनाव में अधिकतम 77 लाख रुपए खर्च कर सकेंगे उम्मीदवार, केंद्र सरकार ने तय की लोकसभा और विधानसभा चुनाव में खर्च की सीमा; अधिसूचना जारी
2 कोरोना पर नरेंद्र मोदी का भाषण: त्योहारों के लिए पब्लिक को चेताया, पर चुनाव लड़ रहे नेताओं को भूल गया
3 …जब Ford के अफसरों ने दिखाया था रतन टाटा को रौब, कहा था- कार के बारे में पता नहीं, तो क्यों कर रहे कारोबार? यूं लिया था अपमान का बदला
ये पढ़ा क्या?
X