हरियाणा में भाजपा के मंत्री को लगा था टीका, बड़ी मुश्किल से बच पाए- डिबेट में बोले पैनलिस्ट

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी नीत सरकार का कोरोना टीका नहीं लगवाएंगे और उनकी सरकार आने पर सभी को निशुल्क टीका लगेगा।

aajtak TV debate halla bolटीवी डिबेट में भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी और सपा प्रवक्ता अनुराग भदौरिया। (वीडियो स्क्रीनशॉट)

कोविड-19 टीके पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव के बयान के बचाव में पार्टी उतर आई है। पार्टी प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने एक टीवी डिबेट में यूपी के पूर्व सीएम का बचाव करते हुए कहा कि भाजपा ने जैसे पीपीई किट में घोटाला किया है, वो किसी भी चीज में घोटाला कर सकती है। इसे ही कहते हैं भ्रष्टाटार का टीका। उन्होंने आजतक टीवी डिबेट ‘हल्ला बोल’ में हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को कोरोना टीका लगाने और बाद में उनका स्वास्थ्य खराब होने पर भी तंज कसा। बकौल अनुराग भदौरिया हरियाणा के एक मंत्री को टीका लगाया था और कितनी मुश्किल से वो बच पाए हैं। भाजपा मार्केट इंवेट में भरोसा रखती है।

भदौरिया के अलावा सपा एमएलसी आशुतोष सिन्हा ने भी अखिलेश के बयान का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि अगर अखिलेश जी ने ऐसा कहा है तो कुछ सोचकर ही कहा होगा। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव ने इस बात को कहा है तो इसमें कुछ गंभीरता होगी। यूपी और केंद्र सरकार भरोसे लायक नहीं है। गोरखपुर में ऑक्सीजन की कमी से बच्चे मर गए थे। वहां योगी दो दिन पहले दौरा कर के आए थे। हमें सरकार पर विश्वास नहीं है।

दरअसल शनिवार को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी नीत सरकार का कोरोना टीका नहीं लगवाएंगे और उनकी सरकार आने पर सभी को निशुल्क टीका लगेगा। उनके इस बयान पर भाजपा सरकार और संगठन ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इसे देश के वैज्ञानिकों और डॉक्टरों का अपमान बताया।।

अखिलेश ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘मैं तो नहीं लगवाऊंगा अभी टीका, मैंने अपनी बात कह दी। वह भी भाजपा लगाएगी, उसका भरोसा करूं मैं। अरे जाओ भई, अपनी सरकार आएगी तो सबको फ्री वैक्सीन लगेगी। हम भाजपा का टीका नहीं लगवा सकते।’ उनके इस बयान पर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री और भाजपा नेता केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि अखिलेश यादव को टीका पर भरोसा नहीं है और यह देश के डॉक्टरों और वैज्ञानिकों का अपमान है।

उन्होंने कहा, ‘अखिलेश यादव जी को टीका पर भरोसा नहीं है और उत्तर प्रदेश वासियों को उनपर (अखिलेश यादव) पर भरोसा नहीं है। उनका टीके पर सवाल उठाना, हमारे देश के चिकित्सकों एवं वैज्ञानिकों का अपमान है जिसके लिए उन्हें माफी माननी चाहिए।।’ (इजेंसी इनपुट)

Next Stories
1 भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को भी मिली एक्सपर्ट पैनल ने दी मंजूरी
2 सपा एमएलसी ने कहा- ये कोरोना वैक्सीन नपुंसक बना देगा, बीजेपी पर भरोसा नहीं; उमर अब्दुल्ला बोले- मैं तो लगवाऊँगा टीका
3 ‘सारे जहां से अच्छा ‘पीएम हमारा’ ट्वीट कर बोले शाहनवाज हुसैन, हुए ट्रोल
ये पढ़ा क्या?
X