ताज़ा खबर
 

वैक्सीन पर मंत्रियों में बहस, एंकर से कहा- बोलने क्यों नहीं दे रहीं, क्यों बुलाया हमें ?

आजतक टीवी डिबेट 'दंगल' में एमपी के मंत्री विश्वास सांरग ने झारखंड के मंत्री बन्ना गुप्ता को निशाने पर लेते हुए कहा कि उनकी वजह से झारखंड की जनता में अविश्वास पैदा हुआ है।

aaj tak TV debate trending newsटीवी डिबेट में दोनों नेताओं के बीच खूब बहस हुई। (ANI)

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता और मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सांरग कोरोना टीके के मुद्दे पर एक टीवी डिबेट में आपस में भिड़ गए। आजतक टीवी डिबेट ‘दंगल’ में विश्वास सांरग ने बन्ना गुप्ता को निशाने पर लेते हुए कहा कि उनकी वजह से झारखंड की जनता में अविश्वास पैदा हुआ है। उन्होंने डिबेट में कांग्रेस नेता (बन्ना गुप्ता) को दलगत राजनीति से ऊपर उठने की सीख दी।

दरअसल झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना का टीका आने पर इसे पहले खुद लगवाने की घोषणा की थी। हालांकि शनिवार को टीकाकरण के दौरान भारत सरकार ने उन्हें इसकी अनुमति नहीं मिली। इस पर नाराज स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि केंद्र ने उन्हें स्वास्थ्यकर्मी मानने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि अगर पीएम मोदी को टीका लग जाता तब सभी स्वास्थ्य मंत्री को भी टीका लग जाता। अपनी इन्हीं टिप्पणियों के चलते वो डिबेट में निशाने पर आ गए।

कांग्रेस नेता जब इसका जवाब दे रहे थे तभी एंकर चित्रा त्रिपाठी बीच में बोल पड़ीं। उन्होंने कहा कि देश का सबसे बड़ा हॉस्पिटल दिल्ली का एम्स है, जहां हर जगह से निराश होकर लोग पहुंचते हैं। इसी हॉस्पिटल के डायरेक्टर ने कैमरे के सामने टीका लगाया, क्या वो तस्वीरें भरोसा पैदा करने के लिए काफी नहीं हैं? बन्ना गुप्ता कुछ बोलते फिर एंकर ने तंज कसते हुए कहा कि आप वैक्सीन पर सवाल खड़े कर रहे हैं। कहा जा रहा है कि तीसरे चरण का ट्रायल क्यों नहीं किया गया।

यहां देखें वीडियो-

इस पर नाराज झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- आप ही बोल लीजिए, फिर मैं क्या बोलूंगा। मुझे भी बोलने का अवसर दीजिए। गजब…गजब, आप विरोध या विपक्ष की बात क्यों नहीं बोलने दे रही हैं? फिर बुलाने का क्या मतलब? बोलने तो दीजिए। क्या हम मोदी जी का महिमामंडन करने के लिए बैठे हैं। उन्होंने कहा- आप मुझे भी मौका दीजिए, मैं भी बढ़िया बोलूंगा।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शनिवार को कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ शुरू किए गए दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के तहत शनिवार को भारत में अग्रिम पंक्ति के लगभग दो लाख स्वास्थ्यकर्मियों और सफाईकर्मियों को टीके की पहली खुराक दी गई। इसके साथ ही दुनियाभर में 10 महीनों में लाखों जिंदगियों और रोजगार को लील लेने वाली इस महामारी के भारत में खात्मे की उम्मीद जगी है।

Next Stories
1 नरेंद्र मोदी ने नहीं लगवाया, पर दुनिया के ये बड़े नेता ले चुके हैं कोरोना का टीका
2 मैंने BJP को नहीं Modi को वोट दिया था- किसानों के बीच बोलीं पूनम पंडित
3 TRP Scam में आरोपी पूर्व BARC CEO पार्थ दासगुप्ता ICU में भर्ती
आज का राशिफल
X