ताज़ा खबर
 

मास्क के सवाल पर इंटरव्यू में स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को मोबाइल फोन दिखाने लगे ऐंकर, पर खुद नहीं लगा रखा था फेस कवर

कार्यक्रम में डॉ हर्षवर्धन कहने लगे कि यह केंद्र सरकार के लिए गए फैसलों का ही असर है कि देश का बच्चा-बच्चा कोविड से खुद को बचाने के बारे में जागरुक है।

harsh vardhan, coronaइंटरव्यू में एंकर ने मास्क को लेकर मंत्री हर्षवर्धन से सवाल किया। (Indian Express)।

आज तक पर सीधी बात कार्यक्रम में एंकर प्रभु चावला फोन दिखाकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन से पूछने लगे कि अगर मैं आपको तस्वीरें दिखाना शुरू करूं तो कोई भी बड़ा नेता रैली संबोधित करते वक्त मास्क पहने नजर नहीं आएगा। हालांकि कार्यक्रम में सवाल पूछने वाले प्रभु चावला खुद मास्क नहीं पहने हुए थे।

कार्यक्रम में डॉ हर्षवर्धन कहने लगे कि यह केंद्र सरकार के लिए गए फैसलों का ही असर है कि देश का बच्चा-बच्चा कोविड से खुद को बचाने के बारे में जागरुक है। मंत्री बताने लगे कि हम देश के लोगों को फोन पर कोरोना को लेकर जागरुक करने का काम कर रहे हैं। बता दें कि भारत में कल से कोरोना के 1,52,879 नए मामले दर्ज किए गए हैं। जिससे देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 1.33 करोड़ पहुंच गई है। पिछले 24 घंटों में 839 मौतों से कुल मौत की संख्या 1.69 लाख हो गई है।

मालूम हो कि लगातार पांचवें दिन भारत में एक दिन में 1 लाख से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। आज बताए गए नए मामले कल के मुकाबले पांच फीसदी ज्यादा हैं। एक्टिव मामलों में लगातार 32 वें दिन वृद्धि देखी गई है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि एक्टिव मामले बढ़कर 11,08,087 हो गए हैं। जो कि कुल मामलों का 8.29 प्रतिशत है। कोरोना से ठीक होने की दर 90.44 प्रतिशत है।

एक्टिव मामले 12 फरवरी को अपने सबसे निचले स्तर 1,35,926 पर थे और 18 सितंबर, 2020 को 10,17,754 के साथ अपने सबसे उच्चतम स्तर पर थे।

चिंताजनक वृद्धि ने कई राज्यों को महामारी को नियंत्रित करने के लिए रात के कर्फ्यू और अन्य वायरस से लड़ने के उपायों पर विचार करने के लिए मजबूर किया है।

महाराष्ट्र, जहां एक्टिव मामलों के 51.23 प्रतिशत मामले हैं, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लॉकडाउन के संकेत दिए हैं।

दिल्ली सरकार ने शनिवार को नए प्रतिबंधों की घोषणा की, अधिकांश सार्वजनिक समारोहों पर प्रतिबंध लगाया गया है। रेस्तरां, सिनेमाघरों, सार्वजनिक परिवहन और शादियों और अंतिम संस्कार जैसे समारोहों में उपस्थिति के लिए सीमा तय की गई है।

पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश ने नवरात्रि और रमज़ान के मद्देनज़र धार्मिक मौकों पर पाँच से अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर प्रतिबंध लगाया है।

Next Stories
1 उद्धव ने दिया महाराष्ट्र में लॉकडाउन का संकेत, दिल्ली में टूटे रिकॉर्ड, 7897 नए मामले
2 बंगाल चुनावः पद्म पुरस्कार से सम्मानित करीमुल हक ने PM मोदी को लगाया गले, फोटो देख पूछने लगे लोग- कहां हैं सोशल डिस्टेंसिंग?
3 यूपी पंचायत चुनावः ‘तमीज से लड़िए’, प्रत्याशियों को अफसर की खुली धमकी- हम पर न पड़ेगा फर्क, धमकाया तो जिंदगी नर्क बना दूंगा; VIDEO वायरल
यह पढ़ा क्या?
X