राष्ट्रीय नेता, CM बनना चाहते हैं?- प्रभु चावला का सवाल, कांग्रेसी शशि थरूर ने दिया ये जवाब

शशि थरूर ने जवाब देते हुए कहा कि अगर मुझे तिरुवनंतपुरम से चुनाव जीतना है तो मुझे मलयालम बोलनी होगी पर आप जैसे लोगों से बात करनी है तो हिंदी-अंग्रेजी बोलनी पड़ेगी।

congress, tharoorकांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि उनको सीएम बनने के लिए कहा जाएगा तो वे जरूर बनेंगे। (Indian Express)।

आज तक पर सीधी बात कार्यक्रम में जब एंकर प्रभु चावला ने कांग्रेस नेता शशि थरूर से सवाल किया कि क्या आप की मुख्यमंत्री बनने की इच्छा है? इसका जवाब देते हुए शशि थरूर ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में बहुत सारे कामयाब लोग हैं। जब प्रभु चावला ने पूछा कि आप अपने बारे में बताएं तो थरूर ने कहा कि मुझसे कहा जाएगा तो मैं बन जाऊंगा। बता दें कि शशि थरूर केरल से लोकसभा सांसद हैं। केरल विधानसभा चुनाव के नतीजे 2 मई को घोषित कि जाएंगे।

कार्यक्रम में जब प्रभु चावला ने नेता थरूर से पूछा कि कि आप हिंदी भी बोलते हैं?आप राष्ट्रीय राजनीति में आना चाहते हैं? शशि थरूर ने जवाब देते हुए कहा कि अगर मुझे तिरुवनंतपुरम से चुनाव जीतना है तो मुझे मलयालम बोलनी होगी पर आप जैसे लोगों से बात करनी है तो हिंदी-अंग्रेजी बोलनी पड़ेगी। शो में प्रभु चावला ने शशि थरूर से पूछा कि यूपीए को कैसे जिंदा किया जाएगा? शशि थरूर ने जवाब दिया कि जाहिर सी बात है सभी दलों से बात करनी पड़ेगी और इसका नेतृत्व कांग्रेस को ही करना पड़ेगा क्योंकि यूपीए में हम ही सबसे बड़े दल हैं।

बता दें कि यूपीए के कार्यकाल के दौरान शशि थरूर कुछ समय के लिए केंद्रीय मंत्री भी रहे थे। वहीं इस बीच कांग्रेस की शीर्ष नीति निर्धारक इकाई कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) की शनिवार को बैठक होगी, जिसमें कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेज वृद्धि के बीच मौजूदा हालात पर चर्चा की जाएगी।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अगुवाई में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से यह बैठक होगी। इसमें पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और सीडब्ल्यूसी के दूसरे सदस्य शामिल होंगे।

सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में कोरोना महामारी और इस स्थिति से निपटने लिए उठाए जाने वाले जरूरी कदमों को लेकर चर्चा होगी। इसमें सरकार से जरूरी कदम उठाने की मांग को लेकर प्रस्ताव भी पारित किया जा सकता है।

कांग्रेस कोरोना महामारी की स्थिति से निपटने के सरकार के तौर-तरीकों को लेकर उसकी आलोचना करती रही है। सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर आग्रह किया था कि कोरोना महामारी के खिलाफ टीकाकरण का विस्तार किया जाए।

Next Stories
1 सुप्रीम कोर्ट से सीबीआई को “पिंजरे में क़ैद तोता” कहलवाने वाले पूर्व निदेशक रंजीत सिन्हा की कोरोना से मौत, चारा घोटाले में भी लालू को बचाने का लगा था आरोप
2 कोरोनाः बढ़ते केस, कम पड़ती ऑक्सीजन के बीच कहां और कैसे आती है इसे लाने-ले-जाने में मुश्किल? जानें
3 COVID-19 Helpline पर मरीज ने मिलाया फोन, मिली सलाह- मर जाओ…
यह पढ़ा क्या?
X