ताज़ा खबर
 

रेलवे निजीकरण को लेकर कांग्रेस नेता ने साधा मोदी सरकार पर निशाना, संबित पात्रा बोले- आपकी कंपनी है तो आप भी बोली लगा लीजिए

अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा कि जब से प्रधानमंत्री मोदी जी भारत देश के प्रधानमंत्री पद का नेतृत्व संभाले हैं उनका एक ही लक्ष्य है अपने मित्रों को लाभ पहुंचाना। आम जनता को नहीं अपने मित्रों को लाभ पहुंचाना और इसी कड़ी में रेलवे के लिए यह कदम उठाया गया है।

Sambit Patra, Akhilesh Pratap Singh,संबित पात्रा और अखिलेश प्रताप सिंह के बीच तीखी बहस हुई।

रेलवे ने बुधवार को अपने नेटवर्क पर यात्री ट्रेनें चलाने के लिये निजी इकाइयों को अनुमति देने की योजना पर औपचारिक रूप से कदम उठाया। इसके तहत यात्री रेलगाड़ियों की आवाजाही को लेकर 109 मार्गों पर 151 आधुनिक ट्रेनों के जरिये परिचालन के लिए पात्रता अनुरोध आमंत्रित किए गये हैं। इस मसले पर टीवी चैनल्स पर बहस का दौर जारी है। एक टीवी चैनल पर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा पर कांग्रेस प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह ने जमकर निशाना साधा। उन्होंने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी सरकार का लक्ष्य अपने दोस्तों को फायदा पहुंचाना है।

अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा कि जब से प्रधानमंत्री मोदी जी भारत देश के प्रधानमंत्री पद का नेतृत्व संभाले हैं उनका एक ही लक्ष्य है अपने मित्रों को लाभ पहुंचाना। आम जनता को नहीं अपने मित्रों को लाभ पहुंचाना और इसी कड़ी में रेलवे के लिए यह कदम उठाया गया है। पहले रेलवे का अलग से बजट होता था। रेलवे भारत की  जीवन रेखा है। सवा दो करोड़ लोग रोजाना इससे अपना रास्ता तय करते हैं। मोदी जी आए उन्होंने इसे कम किया। उसके बाद उन्होंने एप्वाइमेंट कम किया। कई पोस्ट रेलवे में खाली हैं। मोदी जी ने रेलवे की उपेक्षा करनी शुरू कर दी। पदों की संख्या कम कर दी। स्टेशन प्राइवेट, सैटेलाइट टर्मिनल प्राइवेट, जमीनें बेच डाली रेलवे की।


उनके इस सवाल पर संबित पात्रा ने कहा कि यह तो ओपन बिडिंग है आपकी कंपनी है तो आप भी बोली लगा लीजिए। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी और कांग्रेस दोनों पाटरी से उतरे हुए हैं। अगर मसौदा सही से पढ़े होते तो यह सवाल नहीं करते।

बता दें कि कांग्रेस ने 109 रेल मार्गों पर ट्रेन चलाने के लिए निजी इकाइयों को अनुमति दिए जाने के फैसले को लेकर बृहस्पतिवार को सरकार पर कोरोना संकट के समय रेलवे का निजीकरण करने का आरोप लगाया और सवाल किया कि आखिर इस विषय पर संसद में चर्चा कराने या मंजूरी लेने का इंतजार क्यों नहीं किया गया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘गरीबों की जीवनरेखा छीन रही सरकार, जनता करारा जवाब देगी’, कोरोना, तेल की कीमतों के बाद अब रेलवे के निजीकरण पर राहुल ने पीएम पर साधा निशाना
2 चीन से तनातनी के बीच मजबूत होगी वायुसेना, 21 MiG फाइटर जेट और 12 सुखोई विमान खरीदेगा भारत
3 65 साल से अधिक उम्र और कोरोना रोगी कर सकेंगे पोस्टल बैलेट से मतदान, विधि मंत्रालय ने चुनाव नियमों में किया संशोधन
ये पढ़ा क्या...
X