ताज़ा खबर
 

सिंघम स्टाइल में रातों रात क्यों पहुंची CBI? पूछा तो विफर पड़े वकील, पैनलिस्ट ने कहा- ‘राजा हरिश्चंद्र मत बनो’

डिबेट में पैनल में शामिल राजनीतिक विश्लेषक ने रात में चिदंबरम के घर सीबीआई अधिकारियों की गिरफ्तारी के तरीके पर सवाल खड़े किए तो पैनल में शामिल वकील विफर पड़े।

डिबेट में चिदंबरम की गिरफ्तारी पर उठाए गए गंभीर सवाल। फोटो: जनसत्ता

सीबीआई ने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया मामले में बुधवार को उनके जोर बाग स्थित निवास से गिरफ्तार किया। चिदंबरम की गिरफ्तारी की यह कार्रवाई पूरी तरह से नाटकीय घटनाक्रम थी। चिदंबरम को गिरफ्तार करने में ईडी और सीबीआई के 30 अधिकारी शामिल रहे। उन्हें रात 10.22 बजे गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद गुरुवार को दिल्ली से स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने चिदंबरम को 26 अगस्त तक सीबीआई रिमांड पर भेज दिया है। उनकी गिरफ्तारी और सीबीआई कोर्ट में उनकी पेशी पर एक न्यूज चैनल के लाइव डिबेट में पैनल में शामिल राजनीतिक विश्लेषक ने सीबीआई के गिरफ्तारी के तरीके पर सवाल खड़े किए तो पैनल में शामिल वकील विफर पड़े।

दरअसल आज तक न्यूज चैनल के लाइव डिबेट शो ‘हल्ला बोल’ में शो की एंकर अंजना ओम कश्यप ने पैनल में शामिल सभी लोगों से सवाल किया कि क्या इस आरोप में दम है कि इस देश की तमाम एजेंसी सरकार के इशारे पर काम कर रही है? एंकर के इतना पूछते ही राजनीतिक विश्लेषक शुभ्रांश राय ने चिदंबरम की गिरफ्तारी पर सवाल खड़े करते हुए कहा ‘यह केस 2018 का है जनवरी में इस पर फैसला सुरक्षित रखा गया। क्या इस दौरान किसी ने सीबीआई का हाथ बांध रखा था कि आप उनसे पूछताछ नहीं कर सकते?

शुभ्रांश राय के इतना कहते ही पैनल में शामिल सुप्रीम कोर्ट के वकील गौरांग कांठ विफर पड़ते हैं। उन्होंने कहा ‘आप कैसी बात कर रहे हैं इस केस में जांच तो चल ही रही थी। आप तथ्यात्मक तौर पर गलत बात कर रहे हैं। आप देश को गलत सूचना नहीं दे सकते।’ वकील के इतना कहते ही शुभ्रांश राय कहते हैं क्या आप देश के ‘राजा हरिश्चंद्र बन रहे हैं। कृप्या करके राजा हरिश्चंद्र मत बनिए। मैंने अपनी बात रखने के लिए 60 सेकेंड मांगे थे। आप 60 सेकेंड के बाद देश को अपना ज्ञान दीजिएगा।’

इस दौरान एंकर दोनों के बीच बढ़ती बहस को किसी तरह शांत करती हैं। इसके बाद शुभ्रांश राय कहते हैं ‘मेरा दूसरा प्वाइंट ये है कि 6 महीने फैसला सुरक्षित रखने के बाद जज साहब ने 24 पेज का लेटर जारी किया। उस लेटर में कहीं नहीं लिखा था कि इस पूरे मामले के दौरान सीबीआई चिदंबरम से पूछताछ नहीं कर सकती। तो यह सवाल पूरे देश के सामने है कि सीबीआई ‘सिंघम स्टाइल’ में रातों-रात उनके घर क्यों पहुंची? क्या सीबीआई इंतजार कर रही थी कि जिस दिन चिदंबरम की जमानत याचिका खारिज होगी उस दिन 6 फीट की दीवार फांदकर पूर्व वित्त को हिरासत में लेकर पूछताछ की जाएगी। देखिए डिबेट में दोनों पैनलिस्ट के बीच इस मुद्दे पर तीखी बहस:-

Next Stories
1 INX Media Scam Case: छह सवालों का जवाब दे चुके पी.चिदंबरम, पर CBI चाहती है इन 20 सवालों के जवाब
2 INX Media Scam Case में पी.चिदंबरम को तगड़ा झटका, 26 अगस्त तक रहेंगे CBI रिमांड पर; ले जाए गए एजेंसी मुख्यालय
3 नेताजी की बेटी की पीएम मोदी से मांग, कहा- जापान के मंदिर में रखी अस्थियों का हो DNA टेस्ट
ये पढ़ा क्या?
X