ताज़ा खबर
 

एंकर ने पूछा – किसानों को कितना MSP मिलता है? BJP नेता कांग्रेस पर लगाने लगे राजनीति करने का आऱोप

बीजेपी नेता ने कहा कि 'पहली बार किसान सम्मान निधि किसानों को दिया जा रहा है, 6000 रुपए उनके खाते में डाले गए' तब इसी पर एंकर रोहित सरदाना ने बीजेपी नेता से पूछा लिया कि अच्छा यह बताइए कि MSP कितना पहुंचता है किसानों के पास?

congress, bjp, farmers protestभाजपा नेता ने कांग्रेस पर किसानों को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाया। फोटो सोर्स – सोशल मीडिया

किसानों का आंदोलन जारी है। इसी विषय पर ‘आज तक’ पर एक डिबेट शो के दौरान एंकर ने बीजेपी नेता से पूछ लिया कि किसानों को कितना MSP मिलता है? इसपर बीजेपी नेता कांग्रेस पर राजनीति करने का आरोप लगाने लगे। दरअसल बीजेपी के सांसद राजकुमार चहर ने डिबेट के दौरान कहा कि ’60 साल तक देश पर एक परिवार ने शासन चलाया है। आज तक इन्होंने एमएसपी के ऊपर कोई स्पष्ट निर्देश नहीं किया। एक संवैधानिक आदेश 1965-66 में लाया गया था और वो संवैधानिक आदेश आज तक चल रहा है।’

उन्होंने आगे कहा कि ‘प्रधानमंत्री ने पूरे देश के किसानों को आश्वस्त किया है कि एमएसपी है, एमएसपी थी और एमएसपी रहेगी..मैं भी किसान का बेटा हूं। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि कांग्रेस पार्टी के कारण ही आज किसानों की दुर्दशा हुई है।’ जैसे ही बीजेपी नेता ने कहा कि ‘पहली बार किसान सम्मान निधि किसानों को दिया जा रहा है, 6000 रुपए उनके खाते में डाले गए’ तब इसी पर एंकर रोहित सरदाना ने बीजेपी नेता से पूछा लिया कि अच्छा यह बताइए कि MSP कितना पहुंचता है किसानों के पास? अगर आपने किसानों की आय बढ़ाई तो कितना एमएसपी पहुंचता है किसानों के पास? आपके साथी त्यागी जी कर रहे हैं कि नहीं मिलता आप कह रहे मिलता है..तो क्या किसानों को एमएसपी भी यह देख कर मिलता है कि कौन किसान कांग्रेस का है और कौन बीजेपी का?

इसपर बीजेपी नेता ने जवाब दिया कि ‘किसान तो किसान होता है। किसान पर राजनीति करने का काम कांग्रेस पार्टी कर रही है। पूरा देश देख रहा है कि किस तरह पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस आंदोलन को राजनीतिक रंग देने का काम किया है? कांग्रेस पार्टी किसानों के लिए कभी कोई विधेयक या कानून नहीं लाई।’

बहरहाल आपको बता दें कि किसानों ने शनिवार और रविवार को भी आंदोलन जारी रखने का एलान किया है। इस बीच किसानों के प्रदर्शन पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने फिर कहा है कि ‘सरकार पहले से ही किसानों से बातचीत करने के लिए तैयार है। हमने 3 दिसंबर को किसानों से जुड़े संगठनों को बातचीत के लिए बुलाया है। ठंड और कोविड-19 को देखते हुए मैं उनसे अपील करता हूं कि वो आंदोलन छोड़ें।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 किसानों के प्रदर्शन पर राहुल का ट्वीट- ‘ये तो बस शुरुआत है!’ BJP नेता नकवी का तंज – हम कांग्रेस नहीं जो…
2 अर्नब गोस्वामी केस पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी- आत्महत्या के लिए उकसाने का केस नहीं बनता, HC ने जमानत ना देकर गलती की
3 COVID-19 वैक्सीन की बढ़ी उम्मीद! PM मोदी इन तीन शहरों में जाकर लेंगे वैक्सीन की तैयारियों का जायजा
ये पढ़ा क्या ?
X