ताज़ा खबर
 

कोरोना मौतों पर कांग्रेस को घेरा तो याद दिलाने लगे चैनल की पुरानी खबरें, एंकर बोलीं- संसद में नहीं बोली जाती अंजना की बात

स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने संसद को बताया कि कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के दौरान किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश से ऑक्सीजन के अभाव में किसी भी मरीज की मौत की खबर नहीं मिली है।

राज्यसभा में केंद्र सरकार ने बताया कि कोरोना की दूसरी लहर में देश में किसी की भी मौत की ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई। (फाइल फोटो – पीटीआई)

आज तक पर डिबेट के दौरान एंकर ने कांग्रेस प्रवक्ता से कहा कि झूठ न सिर्फ केंद्र बल्कि राज्य सरकारें भी तो बोल रही हैं। इस पर कांग्रेस प्रवक्ता याद दिलाने लगे कि मध्य प्रदेश में जब ऑक्सीजन की कमी से लोगों की जान गई थी तो आज तक पर ही खबर दिखाई गई थीं। एंकर ने पूछा कि मौतें तो राजस्थान में भी हुई होंगी जहां आपकी सरकार है। आपकी पार्टी के सीएम कितना एक्टिव थे? एंकर ने कहा कि अंजना ओम कश्यप की कही बातें थोड़े ही संसद में बोली जाती हैं।

डिबेट में एंकर अंजना ओम कश्यप ने बीजेपी नेता से कहा कि आखिर कोरोना से होने वाली मौतों को खारिज करने पर क्यों तुले हुए हैं। क्या जिन लोगों की जानें गईं उनकी कोई कीमत नहीं है? जवाब में बीजेपी नेता ने कहा कि किसी की भी मौत दुखद है। नेता कहने लगे कि राज्य सरकारों की भी तो जिम्मेदारी थी। बीजेपी नेता ने कहा कि कई राज्यों सरकारों ने तो बस केंद्र पर ठीकरा फोड़ने का काम किया है। नेता दावा करने लगे कि ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत नहीं हुई है। बता दें कि कल स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने संसद को बताया कि कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के दौरान किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश से ऑक्सीजन के अभाव में किसी भी मरीज की मौत की खबर नहीं मिली है।

उन्होंने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी। उन्होंने यह भी बताया ‘‘बहरहाल, कोविड महामारी की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की मांग अप्रत्याशित रूप से बढ़ गई थी । महामारी की पहली लहर के दौरान, इस जीवन रक्षक गैस की मांग 3095 मीट्रिक टन थी जो दूसरी लहर के दौरान बढ़ कर करीब 9000 मीट्रिक टन हो गई।’’


उनसे पूछा गया था कि क्या दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन न मिल पाने की वजह से बड़ी संख्या में लोगों की जान गई है। पवार ने बताया कि स्वास्थ्य राज्य का विषय है और राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेश कोविड के मामलों और मौत की संख्या के बारे में केंद्र को नियमित सूचना देते हैं। उन्होंने बताया ‘‘केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कोविड से मौत की सूचना देने के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए हैं।’’

उन्होंने कहा ‘‘इसके अनुसार, सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश नियमित रूप से केंद्र सरकार को कोविड के मामले और इसकी वजह से हुई मौत की संख्या के बारे में सूचना देते हैं। बहरहाल, किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश ने ऑक्सीजन के अभाव में किसी की भी जान जाने की खबर नहीं दी है।’’

Next Stories
1 नवजोत सिंह सिद्धू 23 को लेंगे चार्ज, 65 विधायकों का हस्ताक्षरित आमंत्रण पत्र कैप्टन अमरिंदर को भेजा
2 बिहारः चिता जलाने के लिए नहीं मिली सूखी जगह तो मचान पर करना पड़ा अंतिम संस्कार
3 केजरीवाल ने दी जंतर-मंतर पर किसान संसद की अनुमति, SKM बोला-चार बसों में बैठ रोजाना संसद तक जाएगा जत्था
यह पढ़ा क्या?
X