scorecardresearch

MP में हैवानियत! 13 साल की मासूम को बनाया शिकार, 9 दरिंदों ने 5 दिन में 2 बार किया रेप

बाद में 12 जनवरी की सुबह जब बच्ची ने आरोपियों से अपने घर भेजने की मिन्नतें की तो उसके बाद आरोपियों ने मासूम को ट्रक में बिठा दिया। ट्रक चालक ने भी बच्ची की मज़बूरी का फायदा उठाते हुए उसके साथ दुष्कर्म किया और उसको बीच रास्ते में छोड़ कर फरार हो गया। 

MP में हैवानियत! 13 साल की मासूम को बनाया शिकार, 9 दरिंदों ने 5 दिन में 2 बार किया रेप
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो क्रेडिट – freepik)

मध्यप्रदेश के उमरिया जिले में एक 13 वर्षीय नाबालिग बच्ची के साथ 9 दरिदों ने गैंगरेप किया। जानकारी के अनुसार मासूम लड़की को दो आरोपी ने 4 जनवरी को बहला फुसला कर उसका अपहरण कर लिया। आरोपी के छह दोस्तों ने दो दिन तक बच्ची के साथ बलात्कार किया। आरोपियों ने पीड़िता को किसी को भी कुछ बताने पर जान से मारने की धमकी देते हुए रिहा कर दिया। फिर 11 जनवरी को पहले से ही वारदात में शामिल रहे एक आरोपी ने नाबालिग को दोबारा से अगवा कर लिया। आरोपी ने उसे सड़क किनारे एक ढाबे में रख दिया जहाँ 3 लोगों ने मासूम के साथ बलात्कार किया।

उमरिया पुलिस के अनुसार नाबालिग के पिता जबलपुर में सरकारी नौकरी करते हैं। लॉकडाउन के दौरान 13 वर्षीया नाबालिग अपनी माँ के पास उमरिया आ गयी थी। 4 जनवरी को सब्जी मंडी जाने के क्रम में आरोपियों ने नाबालिग का अपहरण कर लिया था। जिसके बाद करीब 9 आरोपियों ने बच्ची के साथ दो बार गैंगरेप किया। बाद में 12 जनवरी की सुबह जब बच्ची ने आरोपियों से अपने घर भेजने की मिन्नतें की तो उसके बाद आरोपियों ने मासूम को ट्रक में बिठा दिया। ट्रक चालक ने भी बच्ची की मज़बूरी का फायदा उठाते हुए उसके साथ दुष्कर्म किया और उसको बीच रास्ते में छोड़ कर फरार हो गया। 

उसके बाद नाबालिग बच्ची जैसे तैसे अपने घर पहुंची और अपने परिवार वालों को घटना की जानकारी दी। बाद में नाबालिग अपने परिजन के साथ थाने पहुंची और अधिकारियों के सामने हालात को बयां किया।  इस घृणित वारदात को सुनकर वहां मौजूद पुलिसवालों के रोंगटे खड़े हो गए। उमरिया पुलिस ने बच्ची के साथ हुए बलात्कार के मामले में करीब 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और बाकी फरार आरोपियों की खोज की जा रही है। उमरिया पुलिस अधीक्षक विकास सहवाल ने बताया कि इस मामले में अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की दो टीम बनाई गयी है साथ ही पोस्को और आईपीसी की अन्य धाराओं के तहत केस भी दर्ज किया गया है।

मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह की सरकार इन दिनों पूरे राज्य में महिलाओं के खिलाफ अपराध को लेकर जन जागरूकता अभियान चला रही है। लेकिन इसके बावजूद महिलाओं के ऊपर हो रहे अपराध थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। पिछले छह दिनों में राज्य के अलग अलग जिलों से कम से कम चार जघन्य घटनाएँ सामने आईं हैं।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.