ताज़ा खबर
 

आजादी के 70 साल: 1947 में फोर्ट सेंट जॉर्ज पर 12 गुणे 8 फीट का तिंरगा फहराया गया था, हाई सिक्योरिटी में है संरक्षित

12 फुट बाय आठ फुट की माप वाले झंडे को 15 अगस्त 1947 को सुबह पांच बजकर पांच मिनट पर फोर्ट सेंट जॉर्ज पर ब्रितानी संघ के जैक को हटाकर फहराया गया था। हजारों लोग इसके गवाह बने थे।
Author August 13, 2017 18:02 pm
4 जुलाई 1947 को ब्रिटिश हाउस ऑफ कॉमंस में भारत की आजादी का बिल पेश किया गया। 15 दिन बाद इसे पास कर दिया गया। इसके तहत 15 अगस्‍त 1947 तक ब्रिटिश शासन को समाप्‍त करने की बात कही गई।

भारत में 15 अगस्त 1947 को फोर्ट सेंट जॉर्ज पर फहराया गया राष्ट्रीय ध्वज एकमात्र प्राचीन तिरंगा है, जो आज भी सही स्थिति में है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने अपने अथक प्रयासों से इसे संरक्षित रखा हुआ है। कई दशकों से एएसआई के ‘रिजर्व कलेक्शन’ में रखा ध्वज पहली बार 26 जनवरी 2013 को फोर्ट सेंट जॉर्ज परिसर में फोर्ट म्यूजियम में सार्वजनिक प्रदर्शन के लिए रखा गया। हालांकि, ध्वज का संरक्षण कोई आसान काम नहीं है।

लकड़ी और कांच से बने एयरटाइट शोकेस में रखा यह झंडा सिलिका जैल के छह कटोरों से घिरा है। यह जैल हर समय नमी को सोखने के लिए होती है। हॉल के अंदर और शोकेस के ऊपर प्रकाश की उचित व्यवस्था रखने के लिए एक ‘लक्स मीटर’ का इस्तेमाल किया जाता है। हॉल में हर समय वातानुकूलन के जरिए तापमान भी नियत रखा जाता है। शोकेस के आसपास इंसानी सेंसर वाली एलईडी लाइटें लगी हैं। यदि कोई यहां आता है, तभी ये लाइटें जलती हैं।

अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘हम शोकेस पर प्राकृतिक रोशनी भी नहीं पड़ने देते।’’ उनके मुताबिक यह भी ध्यान रखा जाता है कि धूल आदि इस तक न पहुंचे। उन्होंने बताया कि यहां के बेहद मजबूत सुरक्षा वाले उपकरण हैं, जिनमें ट्रिगर साइरन भी शामिल है। 12 फुट बाय आठ फुट की माप वाले झंडे को 15 अगस्त 1947 को सुबह पांच बजकर पांच मिनट पर फोर्ट सेंट जॉर्ज पर ब्रितानी संघ के जैक को हटाकर फहराया गया था। हजारों लोग इसके गवाह बने थे।

अधिकारी ने कहा, ‘‘यह एकमात्र राष्ट्रीय ध्वज है, जिसे आज तक संरक्षित रखा गया है और यह एकमात्र ऐसा झंडा भी है, जिसे पहले स्वतंत्रता दिवस पर फहराया गया और वह आज तक संरक्षित है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.