ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार के 7 सालः केंद्र, BJP की नीतियां बताने पहुंची थीं बबीता फोगाट, घेराव कर किसानों ने दिखाए काले झंडे; पुलिस ने संभाले हालात

सांगवान खाप के प्रधान और निर्दलीय विधायक सोमवीर सांगवान ने बताया कि बबीता फोगाट सेनेटाइजिंग के लिए आयी थीं जिसका किसानों ने विरोध किया और आगे भी सत्तारूढ पार्टियों के किसी नेता के किसी भी गांव में आने पर इसी प्रकार विरोध किया जाएगा।

Edited By सचिन शेखर चंडीगढ़ | May 31, 2021 7:43 AM
रविवार को किसानों ने बीजेपी नेता बबीता फोगट का विरोध किया (एक्सप्रेस फोटो)

रेसलर और बीजेपी नेता बबीता फोगाट को किसानों के विरोध का सामना करना पड़ा। किसानों ने काले झंडे दिखाए तथा उनका जमकर विरोध किया। पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद बबीता फोगाट को वहां से निकाला। बबीता फोगाट केंद्र में भाजपा सरकार के सात साल पूरे होने पर सरकार की नीतियां बताने एवं मास्क वितरण के लिए बिरही कलां गांव आयी थीं।

रविवार को भाजपा नेता एवं महिला विकास निगम की अध्यक्ष बबीता फोगाट बिरही कलां पहुंची तो दर्जनों किसान, मजदूर व सामाजिक संगठनों ने कृषि बिलों के विरोध में बबीता की गाड़ी का घेराव किया तथा काले झंडे दिखाए। करीब 10 मिनट तक सैकड़ों लोगों ने बबीता का घेराव जारी रखा तथा जमकर विरोध प्रदर्शन किया। पुलिसकर्मियों ने कड़ी मशक्कत के बाद भीड़ पर काबू पाया तथा बबीता फोगाट की गाड़ी को वहां निकाला।

सांगवान खाप के प्रधान और निर्दलीय विधायक सोमवीर सांगवान ने बताया कि बबीता फोगाट सेनेटाइजिंग के लिए आयी थीं जिसका किसानों ने विरोध किया और आगे भी सत्तारूढ पार्टियों के किसी नेता के किसी भी गांव में आने पर इसी प्रकार विरोध किया जाएगा। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि बबीता फोगाट कृषि कानूनों को लेकर सरकार के पक्ष में बोल रही हैं, इसतरह वह केवल सरकार में अपनी पकड़ मजबूत बनाना चाहती है।

उनका कहना था कि उन्हें किसानों से किसी प्रकार की हमदर्दी नहीं है जबकि देशभर के किसान बिलों का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले छह महीनों से किसान सड़कों पर डेरा डाले बैठे हैं जबकि सरकार किसानों को डरा धमका कर घर भेजना चाहती है लेकिन किसान कृषि बिल रद्द होने के बाद ही घर जाएंगे।

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि सांगवान खाप ने भाजपा व जजपा नेताओं का बहिष्कार किया हुआ है । अगर इन पार्टियों का नेता गांव में आएंगे तो उनका विरोध किया जाएगा। बताते चलें कि फोगाट 2019 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हुईं, लेकिन अपना पहला चुनाव हार गईं, बबीता को मनोहर लाल खट्टर सरकार द्वारा 2020 में हरियाणा महिला विकास निगम की अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था।

Next Stories
1 रविवार को कोरोना के 1.52 लाख मामले, तमिलनाडु में 24 घंटे में 28,864 व कर्नाटक में 20,378 लोग संक्रमित
2 दिल्ली : पाबंदियों में आज से कुछ ढील, कारखाने खोलने और भवन निर्माण स्थल पर काम की इजाजत
3 IMA के मानहानि दावे पर बोले रामदेव- इनकी क्या इज्जत, दावा तो मुझे करना चाहिए था
ये पढ़ा क्या?
X