ताज़ा खबर
 

Inside Story: UN में नवाज शरीफ को कड़ा जवाब देने के लिए 5 घंटे तक 5 राजनयिकों ने की थी मेहनत, जान बूझ कर सबसे जूनियर अफसर को भेजा

युनाइटेड नेशन (यूएन) में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को करारा जवाब देने के लिए पांच राजनयिकों ने कड़ी मेहनत की थी

united nations, eenam gambhir, india reply to nawaz sharifयूएन में चल रही जनरल एसेंबली की मीटिंग में भारत की तरफ से नवाज शरीफ को ईनम गंभीर ने करारा जवाब दिया था।

युनाइटेड नेशन (यूएन) में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को करारा जवाब देने के लिए पांच राजनयिकों ने कड़ी मेहनत की थी। इसके लिए पांचों ने न्यू यॉर्क में मौजूद यूएन ऑफिस में लगभग पांच घंटे और 15 मिनट तक तैयारी की। इंडियन एक्सप्रेस को मिली जानकारी के मुताबिक, नवाज के भाषण के बाद ईनम गंभीर को बोलने भेजना भी रणनीति का हिस्सा था। गंभीर आईएफएस (IFS) ऑफिसर हैं और वह सभी राजनायिकों में सबसे जूनियर थीं। लेकिन फिर भी नवाज के भाषण के बाद उन्हें भेजा गया। इसपर बात करते हुए एक राजनयिक ने कहा, ‘इसका मकसद दुनिया को यह दिखाना था कि दूसरे पक्ष की सरकार के मुखिया की टक्कर हमारा सबसे जूनियर ऑफिसर भी ले सकता है।’

बुधवार को दोपहर 2 बजे के करीब नवाज शरीफ ने अपना भाषण दिया था। इसके बाद भारतीय राजनयिकों ने यूएन हेडक्वाटर से कुछ दूरी पर मौजूद सय्यद अकबरूद्दीन के ऑफिस पर एक मीटिंग की। उस मीटिंग में ही सब कुछ तय हुआ। एक राजनयिक ने कहा, ‘हम लोग संदेश को छोटा रखना चाहते थे। ऐसी मुख्य बातें कह देना चाहते थे जो कि 3 से 4 मिनट में पूरी हो जाएं। हमने लगभग 500 शब्द की स्पीच तैयार की थी। इसे इसलिए छोटा रखा गया ताकि इसे जल्दी से पढ़ा जा सके और सोशल मीडिया पर भी इसे कम शब्दों के साथ शेयर किया जा सके।’

मीटिंग में मौजूद ज्यादातर लोग पाकिस्तान के साथ किसी ना किसी रूप में जुड़े रहे हैं। अकबरुद्दीन इस्लामाबाद में राजनीतिक परामर्शदाता रह चुके हैं। वहीं सुजाता मेहता ने भी पाकिस्तान के मुद्दों पर कई मौकों पर काम किया है। वह पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पीवी नरसिम्हा राव के साथ भी काम कर चुकी हैं। वहीं सय्यद ईनम ने भी पाकिस्तान डिवीजन में काम किया है। उसके बाद वह न्यू यॉर्क में आकर सचिव (आतंक से मुकाबला करने वाले संगठन की इंचार्ज) बनी।

Read Also: नम गंभीर, जिन्होंने यूएन में नवाज शरीफ की स्पीच पर दिया करारा जवाब

यूएन में चल रही जनरल एसेंबली की मीटिंग में भारत की तरफ से नवाज शरीफ को ईनम गंभीर ने करारा जवाब दिया था। गंभीर ने कहा था, ‘पाकिस्तान आतंक को शरण देने वाला देश है और उसकी वजह से भारत और बाकी पड़ोसी देशों को भी परेशानी होती है। अब बात हमारे क्षेत्र में भी बाहर होती जा रही है।’ गंभीर के भाषण के बाद वह सोशल मीडिया पर ट्रेंड भी कर रही थीं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 रफाल समझौते को सार्वजनिक किया जाए : कांग्रेस
2 PM मोदी की हुक्मरानों को ललकार, अवाम से प्यार, कहा- आतंक के आकाओं का लिखा भाषण पढ़ते हैं पाक हुक्मरान
3 पीएम मोदी की पाकिस्‍तान को चुनौती- हिम्‍मत है तो गरीबी, बेरोजगारी लड़ो, देखो कौन जीतता है
ये पढ़ा क्या?
X