ताज़ा खबर
 

1 दिसंबर से 13 फरवरी के बीच 46 ट्रेनें हुईं कैंसल

इस अवधि में 28 ट्रेनों के चक्कर घटाए गए हैं, वहीं आठ ट्रेनों को आंशिक रूप से रद्द कर दिया गया। चार ट्रेनों के रास्ते बदल दिए गए हैं।

Author नई दिल्ली | November 28, 2017 3:17 PM
रेलवे ने उत्तर भारत में कोहरे को देखते हुए एक दिसंबर से 13 फरवरी के बीच 46 ट्रेने रद्द कर दी हैं।

रेलवे ने उत्तर भारत में कोहरे को देखते हुए एक दिसंबर से 13 फरवरी के बीच 46 ट्रेने रद्द कर दी हैं। रेलवे बोर्ड द्वारा सभी महाप्रबंधकों को लिखे गए एक पत्र के अनुसार, ट्रेन परिचालन के प्रबंधन के लिए कोहरा प्रभावित इलाकों से गुजरने वाली ट्रेनों को रद्द करने और उनके चक्कर कम करने के लिए एक विस्तृत योजना तैयार की गई है। रद्द की गई इन ट्रेनों में आगरा इंटरसिटी एक्सप्रेस, 12179 लखनऊ जंक्शन-आगरा कैंट एक्सप्रेस, 15209 सहरसा-अमृतसर एक्सप्रेस, 14674 अमृतसर-जयनगर शहीद एक्सप्रेस और लखनऊ-आनंद विहार एक्सप्रेस हैं।

जयनगर-नई दिल्ली एक्सप्रेस, आजमगढ़-दिल्ली कैफियत एक्सप्रेस और बरौनी-अंबाला हरिहरनाथ एक्सप्रेस एक दिसंबर से 13 फरवरी के बीच हर गुरुवार को निलंबित रहेंगी। इन्हीं तारीखों के बीच शुक्रवार को जयनगर-अमृतसर एक्सप्रेस भी नहीं चलेगी। ट्रेनों को रद्द करने से दैनिक यात्रियों पर बहुत असर पड़ेगा। इस अवधि में 28 ट्रेनों के चक्कर घटाए गए हैं, वहीं आठ ट्रेनों को आंशिक रूप से रद्द कर दिया गया। चार ट्रेनों के रास्ते बदल दिए गए हैं, वहीं 46 को रद्द कर दिया गया है।

दूसरी तरफ, खबर है कि गाजियाबाद जा रही एक लोकल यात्री ट्रेन के एक कोच का एक पहिया ओखला के निकट पटरी से उतर गया। पलवल-नई दिल्ली-गाजियाबाद ट्रेन मंगलवार सुबह करीब पौने 10 बजे पटरी से उतर गई। इसमें कोई हताहत नहीं हुआ। उत्तरी रेलवे के सीपीआरओ नितिन चौधरी ने कहा, ‘‘केवल एक पहिया पटरी से उतरा। पटरी से उतरी मेमू (मेनलाइन इलेक्ट्रिकल मैंटिनेंस यूनिट) के यात्रियों को एक अन्य ट्रेन से आगे ले जाया गया।’’ उन्होंने बताया कि संभागीय रेल प्रबंधक और अन्य वरिष्ठ अधिकारी ट्रेन के पटरी से उतरने के तत्काल बाद मौके पर पहुंच गए। चौधरी ने बताया कि पहिए के पटरी से उतरने के कारण की जांच की जा रही है। कुछ दिन पहले ही, 24 नवंबर को रेल विभाग ने दो रेलगाड़ियों के पटरी से उतरने समेत चार हादसे दर्ज किए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App