ताज़ा खबर
 

17 राज्यों में तब्लीगी जमात ने मचाया कोहराम, देशभर के कुल 33% मामले सिर्फ निजामुद्दीन से जुड़े, संपर्क में आए 22,000 लोग क्वारैंटाइन

मार्च के पहले हफ्ते में सैकड़ों की संख्या में लोग दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात से जुड़े कार्यक्रम में जुटे थे, जबकि सरकार ने कोरोना के मद्देनजर सभी धार्मिक कार्यक्रमों को बैन किया था।

Author Translated By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: April 5, 2020 9:01 AM
कुछ दिनों पहले ही दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात का कार्यक्रम आयोजित हुआ था। (फोटो-PTI)

देश में कोरोनावायरस संक्रमण के 33% से ज्यादा मामले दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होने वालों से जुड़े हैं। अब तक भारत में कोरोना संक्रमितों के कुल 3072 मामले सामने आए हैं। इनमें से 1023 निजामुद्दीन की मरकज से ही जुड़े हैं। यह सभी केसेज देश के 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से सामने आए हैं। इनमें तमिलनाडु, दिल्ली, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर, महाराष्ट्र, कर्नाटक, असम, उत्तराखंड, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, केरल, अरुणाचल प्रदेश, झारखंड औऱ अंडमान निकोबार द्वीप समूह शामिल हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव लव अग्रवाल ने शनिवार को मीडिया ब्रीफिंग के दौरान बताया कि कोरोना के 30 फीसदी मामले इस एक कार्यक्रम (निजामुद्दीन की मरकज) से जुड़े हैं। हमारे लिए 17 राज्यों में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग रोजाना की लड़ाई है। मैं बताना चाहता हूं कि हमारे यहां संक्रमण के दोगुनी रफ्तार से बढ़ने की गति दूसरे देशों से काफी कम है। लेकिन बताना चाहता हैं कि एक भी गलती हमें काफी पीछे ढकेल देगी।

गौरतलब है कि मार्च के पहले हफ्ते में सैकड़ों की संख्या में तब्लीगी जमात के कार्यकर्ता दिल्ली के निजामुद्दीन में धार्मिक कार्यक्रम के लिए जुटे थे। वे यहां कई दिनों तक रहे थे। जबकि सरकार ने कोरोनावायरस के मद्देनजर खराब होती स्थिति को देखते हुए बड़े जुटाव वाले कार्यक्रमों को बैन किया था।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, मरकज में शामिल होने वाले 2000 से ज्यादा तब्लीगी जमात के लोग विदेशी थे। कार्यक्रम खत्म होनने के बाद इनमें से करीब 800 लोग देश के अलग-अलग स्थानो पर गए। गृह मंत्रालय ने गुरुवार तक तब्लीगी जमात से जुड़े 1320 विदेशियों के वीजा नियमों के उल्लंघन की वजह से रद्द कर दिए थे। यह 2000 विदेशी दुनियाभर के 7 देशों से टूरिस्ट वीजा पर भारत आए थे। इनमें सबसे ज्यादा 493 बांग्लादेश से, इंडोनेशिया से 472, मलेशिया से 150 और थाईलैंड से 142 लोग आए थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पूरे देश से एकबारगी नहीं हटेगा लॉकडाउन, चरणों में होंगी सेवाएं बहाल, जानें- देशभर में कहां, क्या बन रहा प्लान?
2 मुस्लिम थी गर्भवती, इसलिए डॉक्टर ने कहा- नहीं करेंगे एडमिट! डिलीवरी के बाद बच्चे की मौत
3 COVID-19 संकट के बीच 15 अप्रैल से UP में खुल जाएगा लॉकडाउन? CM योगी आदित्यनाथ ने दिया ये जवाब