ताज़ा खबर
 

3 मार्च, शाम 5 बजे न्यूज अपडेट: मिर्जापुर में सपा-बसपा पर बरसे पीएम, उमा भारती की राहुल गांधी को चुनौती, CRPF बंकर पर ग्रेनेड से हमला

पीएम मोदी के सपा-बसपा पर निशाना साधने से लेकर CRPF बंकर पर हमला तक, पढ़िए सभी बड़ी खबरें

मिर्जापुर में सपा-बसपा पर बरसे पीएम

उत्‍तर प्रदेश के मिर्जापुर में शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनावी रैली को संबोधित किया। विरोधी पार्टियों पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा कि आगामी 11 मार्च को राज्य विधानसभा चुनाव के नतीजे आने पर सपा, बसपा और कांग्रेस को ‘करंट’ लगेगा। सीएम अखिलेश यादव पर बोलते हुए मोदी ने कहा कि अखिलेश के ‘नये यार’ जब खाटसभा करने निकले थे और लोग खटिया उठाकर ले गये थे, क्योंकि जनता को मालूम था कि यह उन्हीं का माल है। अब वे लोग खटिया भी खड़ी करेंगे। प्रधानमंत्री ने उत्तर प्रदेश में हर स्तर पर रिश्वतखोरी का आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘यूपी में हर चीज का रेट तय है। अगर थाने में शिकायत दर्ज करानी है तो इतना रिश्वत देना पड़ेगा। (विस्तार से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

उमा भारती की राहुल गांधी को चुनौती

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को चुनौती देते हुए कहा है कि विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद राहुल थाइलैंड न भागें। राहुल को उनके साथ गंगा नदी पर चलना चाहिए और अगर उसकी सफाई का काम शुरू न हुआ हो तो या तो राहुल गंगा में कूद जाएं वरना वह कूद जाएंगी। उमा भारती का यह बयान राहुल गांधी द्वारा गंगा नदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर किए गए हमले के जवाब में आया है। (विस्तार से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

CRPF बंकर पर ग्रेनेड से हमला

दक्षिणी कश्‍मीर के पुलवामा जिले में सीआरपीएफ बंकर पर ग्रेनेड से हमला किया गया और इस हमले में एक जवान समेत तीन लोगों की मौत हो गई। दरअसल यह हमला व्‍यस्‍त बाजार वाले इलाके में स्थित सीआरपीएफ पोस्ट पर किया गया। हमलावरों ने घात लगाकर सीआरपीएफ गस्ती दल पर ग्रेनेड फेंका। हमला सुरक्षा बलों के जवानों को निशाना बनाकर किया गया था, जिसकी चपेट में सिविलियन भी आ गए। (विस्तार से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

बेनामी लेन-देन करने वालों पर होगी दोहरी कार्रवाई

बेनामी लेनदेन करने वालों पर मोदी सरकार दोहरी कार्रवाई करने की तैयारी में है, जिसमें दोषी पाय जाने पर जुर्माने के साथ-साथ 7 साल की सजा भी हो सकती है। दरअसल टैक्स विभाग ने 3 मार्च को ‘बेनामी संपत्ति संव्यवहार अधिनियम’ का उल्लंघन करने वालों को आगाह करते हुए यह जानकार दी है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कहा कि बेनामी संपत्ति लेन-देन न करें, क्योंकि बेनामी संपत्ति संव्यवहार का प्रतिषेध अधिनियम (1988) 1 नवंबर 2016 से अब सक्रिय है। (विस्तार से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

वर्ल्ड बैंक की CEO ने की नोटबंदी की तारीफ

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App