scorecardresearch

देश में गुरुवार को 3.44 लाख मामले

देश में गुरुवार रात साढ़े दस बजे तक 34 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कोरोना विषाणु संक्रमण के 3,44,661 मामले आए, जबकि संक्रमण की वजह से 688 लोगों की मौत हुई।

सांकेतिक फोटो।

देश में गुरुवार रात साढ़े दस बजे तक 34 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कोरोना विषाणु संक्रमण के 3,44,661 मामले आए, जबकि संक्रमण की वजह से 688 लोगों की मौत हुई। इनमें 309 मौत के मामले पिछले दिनों के हैं जो केरल ने जारी किए हैं। ये आंकड़े राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के स्वास्थ्य विभागों की ओर से जारी किए गए।

सबसे अधिक मामले कर्नाटक में दर्ज किए गए। राज्य में 47,754 मामले आए और 29 लोगों की मौत हुई। केरल में 46,387, महाराष्ट्र में 46,197, तमिलनाडु में 28,561, गुजरात में 24,485, उत्तर प्रदेश में 18,429, राजस्थान में 14,079, आंध्र प्रदेश में 12,615, दिल्ली में 12,306, पश्चिम बंगाल में 10,959, ओड़ीशा में 10,368, हरियाणा में 9,558, मध्य प्रदेश में 9,055, असम में 7,929, पंजाब में 7,862, जम्मू-कश्मीर में 5,992, उत्तराखंड में 4,818 मामले आए।तेलंगाना में 4,207, बिहार में 3,475, गोवा में 3,390, पुदुचेरी में 2,783, हिमाचल प्रदेश में 2,368, चंडीगढ़ में 1,294, त्रिपुरा में 1,185, मिजोरम में 984, मणिपुर में 448, अरुणाचल प्रदेश में 435, सिक्किम में 368, मेघालय में 310, लद्दाख में 185, अंडमान निकोबार में 95, नगालैंड में 92 और दादर नागर हवेली व दमन दीव में 39 मामले आए।

टीकाकरण के कारण तीसरी लहर में मौत के मामले कम

केंद्र ने गुुरुवार को कहा कि कोरोनारोधी टीकाकारण की उच्च दर की वजह से कोरोना विषाणु संक्रमण की तीसरी लहर में दूसरी लहर के मुकाबले काफी कम मौत हुई हैं। संवाददाता सम्मेलन में भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) के प्रमुख बलराम भार्गव ने कहा कि कोरोनारोधी टीकाकारण की उच्च दर के कारण देश में मरीजों की मौत कम हुई हैं। उन्होंने कहा कि इस लहर में टीकाकरण की वजह से ही गंभीर बीमारी के मामले नहीं आ रहे हैं।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.