ताज़ा खबर
 

2G Scam: DMK लीडर स्टालिन ने कोर्ट के फैसले को बताया ऐतिहासिक, कहा- पार्टी का नामोनिशान मिटाने की थी योजना

2G Scam Case Final Verdict: द्रमुक के कार्यवाहक अध्यक्ष एम. के. स्टालिन ने 2जी स्पेक्ट्रम मामले में उनकी पार्टी के नेताओं ए. राजा और कनीमोई को बरी करने के अदालत के फैसले को ऐतिहासिक बताया।

Author चेन्नई | December 21, 2017 1:37 PM
एम. के. स्टालिन की फाइल फोटो।

द्रमुक के कार्यवाहक अध्यक्ष एम. के. स्टालिन ने 2जी स्पेक्ट्रम मामले में उनकी पार्टी के नेताओं ए. राजा और कनीमोई को बरी करने के अदालत के फैसले को ऐतिहासिक बताया। अपनी बहन कनीमोई और पूर्व दूरसंचार मंत्री ए. राजा सहित सभी आरोपियों के बरी होने पर प्रसन्नता जताते हुए स्टालिन ने आरोप लगाया कि यह एक राजनीतिक दल का अपमान करने और उसे खत्म करने की सोची-समझी योजना थी। इस संदर्भ में वह अपनी पार्टी द्रमुक का हवाला दे रहे थे।

मामले के सभी 19 आरोपियों को बरी किए जाने के फैसले के बाद संवाददाताओं से बातचीत में स्टालिन ने कहा, ‘‘ऐतिहासिक फैसला सुनाया गया है।’’ वर्ष 2009 में दर्ज किए गए मुकदमे को याद करते हुए उन्होंने कहा कि यह एक पार्टी का अपमान करने और (देश के) राजनीतिक इतिहास से पार्टी का नामोनिशान मिटाने की योजना थी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह खुशी की बात है कि सभी लोग बरी हो गए हैं।’’ अदालत के फैसले के बाद स्टालिन ने मिठाइयां बांटीं। सीआईटी कालोनी स्थित कनीमोई के आवास के बाहर द्रमुक कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाया। वहीं, आम आदमी पार्टी के नेता आशोतुष ने केन्द्र सरकार पर आरोप लगाया कि बीजेपी ने डीएमके से डील कर ली है। आशुतोष ने लिखा, “पिछले साढ़े तीन सालों में एजेंसियां मोदी सरकार के अंडर में काम कर रही हैं। सीबीआई ने 2G की ठीक से जांच क्यों नहीं की? सबूत क्यों नहीं जुटाए?”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App